To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

आधी आबादी को जागरूक करने निकली बलिया पुलिस, महिला आरक्षियों ने दिये सुरक्षा के टिप्स

सुखपुरा, बलिया। महिला आरक्षी रेखा यादव ने कहा कि समाज को जगाने के लिए महिलाओं का जागृत होना जरूरी है। एक बार जब वह अपना कदम उठा लेती हैं, परिवार आगे बढ़ता है। गांव आगे बढ़ता है और राष्ट्र विकास की ओर उन्मुख होता है। 

बुधवार को पंचायत भवन सुखपुरा के सभागार में आयोजित महिला सशक्तिकरण गोष्ठी को संबोधित करते हुए आरक्षी रेखा यादव ने कहा कि लैंगिक भेदभाव राष्ट्र में सांस्कृतिक, सामाजिक, आर्थिक और शैक्षिक अंतर ताता है, जो देश को पीछे की ओर धकेल देता है।इसलिए जरूरी है कि महिलाएं शारीरिक, मानसिक और सामाजिक रूप से मजबूत हो। महिला सशक्तिकरण के लिए सरकार भी कई सारे कदम उठा रही है। 

बोली, महिला और पुरुष के बीच की असमानता कई समस्याओं को जन्म देती है, जो राष्ट्र के विकास में बड़ी बाधा के रूप में सामने आ सकती है। यह महिलाओं का जन्मसिद्ध अधिकार है कि समाज में पुरुषों के बराबर उन्हें महत्व मिले। महिलाओं को भी अपने सशक्तिकरण के लिए अपने अधिकारों से अवगत होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि किसी तरह की अप्रिय घटना, छेड़खानी या अन्य कोई समस्या हो तो महिलाओं को निर्भय होकर अपनी बात शासन-प्रशासन के समक्ष रखनी चाहिए, ताकि उसका समाधान किया जा सकें। 

गाड़ी चलाते समय मोबाइल नहीं चलाने, सीट बेल्ट बांधने आदि की जानकारी भी दी गई। इसके पूर्व विभिन्न विद्यालयों में पहुंच कर महिला आरक्षियों ने छात्राओं को सुरक्षा के प्रति जागरूक किया। महिला सुरक्षा 1090 के बैनर तले आयोजित इस गोष्ठी में आरक्षी प्रीति मिश्रा, ज्योत्सना यादव, विंदु, पूजा ने भी महिलाओं के प्रश्नों का समाधान किया। थानाध्यक्ष अमित कुमार सिंह, प्रधान अभिमन्यु चौहान, सचिव भरत कुमार सिंह, अमिषा गुप्ता, एसआई मुन्ना यादव, एसआई बांके बहादुर सिंह, सुशीला, रामरतिया, सुमन, मीरा, पुष्पा, लव, पूजा, विनोद आदि मौजूद रहे।

उमेश सिंह

Post a Comment

0 Comments