To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

लड़कों से हंसकर बात करने पर 11 साल की मासूम बच्‍ची को सजा-ए-मौत, मां-बाप गिरफ्तार

मेरठ। झूठी शान का गुमान बुद्ध‍ि-विवेक और मानवीयता का किस तरह हरण करता है, इसका जीता जागता उदाहरण मेरठ में देखने को मिला है। यहां मासूम चंचल की हत्या उसके मां-बाप ने सिर्फ इसलिए कर दी कि वह लड़कों से हंसकर बात करती थी। मासूम बच्ची को नहर में फेंककर सजा-ए-मौत देने वाले माता-पिता के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने कोर्ट में पेश किया, जहां से दोनों को जेल भेज दिया। 

बागपत के सिंघावली निवासी बबलू परिवार के साथ गंगानगर में रहता है। बबलू ने अपनी 11 वर्षीय बेटी चंचल की गुमशुदगी गंगानगर थाने में एक सितंबर को दर्ज कराई थी। पुलिस ने जांच की तो सनसनीखेज बात सामने आई। 31 अगस्त की रात चंचल को उसके पिता बबलू और मां रूबी के साथ बाइक पर देखा गया था। इसके बाद चंचल का पता नहीं चला। पुलिस ने बबलू और रूबी को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पूरा मामला सामने आ गया। 

चंचल के सनकी पिता बबलू ने बताया कि चंचल, लड़कों के साथ हंसकर बात करती थी। लड़कों के साथ खेलती थी। इसी बात को लेकर वह चंचल से नफरत करने लगा। बबलू ने पत्नी रूबी के साथ बेटी की हत्या की साजिश रची। पत्नी को यह कहकर तैयार किया कि चंचल परिवार को बदनाम कर देगी। इसके बाद दोनों, चंचल को बहाने से बाइक पर ले गए और भोला झाल पर टिकरी की ओर जाने वाली नहर में फेंक दिया। 

Post a Comment

0 Comments