To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

ऐतिहासिक महावीरी झंडा जुलुस : बलिया के इस इलाके में दिखा आस्था, उत्साह और कला का संगम

रेवती, बलिया। नागपंचमी पर नगर का ऐतिहासिक महावीरी झंडा जुलुस शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ। कस्बे के विभिन्न अखाड़े अपने-अपने आकर्षक झांकियों के साथ जुलुस में शिरकत किये। नगर में विभिन्न जगहों पर जमें अखाड़े के बीच लोगों ने तलवार, बंगैठी, मुगदर, लाठी आदि परंपरागत अस्त्र-शस्त्रों का हैरत-अंगेज प्रदर्शन किया। 

उत्तर टोला स्थित मुख्य अखाड़ा जनार्दन चौधरी, खुदादीन अखाड़ा चेयरमैन प्रतिनिधि अजय शंकर उर्फ कनक पाण्डेय, बस स्टैंड अखाड़ा भोला ओझा व छोटका टोला अखाड़ा सत्यदेव तुरहा के नेतृत्व में मुख्य अखाड़े पर जुटे, जहां से नगर के मुख्य मार्ग से होते हुए दुर्गा मंदिर, बुढ़वा शिव मंदिर, हनुमान चबुतरा, रामलीला मैदान, मौनी बाबा हनुमान मंदिर, पावर हाउस, बस स्टैंड, बाजार, बीज गोदाम होते हुए पुनः मुख्य अखाड़े पर पहुंचकर संपन्न हुआ। इस बीच जगह-जगह युवकों ने अपने कला कौशलों से लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया। सभी अखाड़ों के उत्साही युवक बीते एक पखवारे से अपने कला कौशल का अभ्यास किए थे। जुलुस निकला तो लोगों के बीच अपनी कला कौशल दिखाने की होड़ सी मच गई।

उधर, पुलिस महकमा जुलूस को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए मशक्कत करता रहा। इस बार भी आधा दर्जन से अधिक थानों की पुलिस के अलावा पीएसी व अग्निशमन दस्ता के साथ मुस्तैद रहा। सुबह से ही जगह-जगह सिपाहियों को तैनात किया गया था। प्रभारी निरीक्षक रत्नेश कुमार सिंह सुबह से ही अखाड़ेदारो के संपर्क में रहे। जुलूस में अध्यक्ष प्रतिनिधि अजय शंकर पाण्डेय 'कनक', एडवोकेट महेश तिवारी,राणा योगेन्द्र विक्रम सिंह माण्डलू, ओंमकार ओझा आदि लोग शामिल रहे। शांति व्यवस्था को लेकर पुलिस महकमा एलर्ट मोड में रहा। शांति व्यवस्था के लिए बैरिया, दोकटी, हल्दी राकेश सिंह, बांसडीह रोड, दुबहड़, सुखपुरा, खेजुरी, पकड़ी, सिन्दरपुर के एसएचओं/उप निरीक्षक के अलावा पुलिस कार्यालय से इंस्पेक्टर राजीव सिंह, राकेश कुमार उपाध्याय, सूनीलचन्द तिवारी, दुर्गेश्वर मिश्रा सहित डेढ सेक्शन पीएससी, अग्निशमन दस्ता तैनात रहा।

झमाझम बरसात के बीच युवाओं ने दिखाया कला कौशल

भगवान इंद्र युवाओं के उत्साह को ठंडा नहीं कर सके। झमाझम बरसात के बीच युवाओं सहित बुजुर्गों ने अपने कला कौशल का बेहतरीन मुशायरा पेश किया, जिसे देख लोग दांतों तले अंगुली दबाने को मजबूर हो गए हैं।

मनमोहक झांकियां सबका ध्यान कर रही थी आकर्षित

बल, बुद्धि के देवता के झंडा जुलुस में शामिल विभिन्न मनमोहक झांकियां बरबस ही सबका ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रही थी। हाथी, घोडे, गाजे बाजे के साथ निकले जुलुस में चलता मेले में बच्चे विभिन्न सामग्रियों की खरीदारी कर रहे थे। राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान की झांकियों के पास विषेश भीड़ रही। लोग अपने-अपने छतों से भी इस अद्भूत नजारे को देख रहे थे।

Post a Comment

0 Comments