To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


thank for visit purvanchal24
ads booking by purvanchal24@gmail.com

हर आंख हुई नम : सास-बहू समेत एक ही परिवार के पांच लोगों की अंतिम विदाई में उमड़ पड़ा पूरा शहर

मुरादाबाद। असालतपुरा के लंगड़े की पुलिया में गुरुवार को हुए अग्निकांड में तीन बच्‍चों समेत पांच लोगों की मौत से हर कोई स्तब्ध है। पोस्टमार्टम के बाद शुक्रवार को पांचों शव घर पहुंचा तो परिजनों की चीख से पूरा मुहल्‍ला गूंज उठा। हर किसी की आंख से आंसू बह रहे थे। जनाजे की नमाज दोपहर जुमे की नमाज के बाद बड़ी मस्जिद में अदा की गई। उसके बाद शव कब्रिस्‍तान पहुंचेे। इस जनाजे में बड़ी संख्‍या में लोग पहुंचे। हर कोई बड़ी मस्जिद के पास पांच लोगों की दर्दनाक मौत पर अफसोस जता रहा था। छोटा हो या बड़ा सभी की आंखें नम थीं। हादसे ने हर एक को हिलाकर रख दिया है।

गुरुवार की रात बिजलीघर के पास स्क्रैप कारोबारी इरशाद के चार मंजिला मकान में आग लगने से परिवार के 13 लोग फंस गए थे। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। हादसे में सास-बहू समेत पांच लोगों की जलकर मौत हो गई थी। मरने वालों में स्क्रैप कारोबारी की पत्‍नी व बहू के अलावा पौत्र व पौत्री और धेवती (बेटी की पुत्री) भी शामिल हैं। सभी शादी समारोह में आए थे।

अग्निशमन दल की मदद से आसपास के लोगों ने गृहस्वामी सहित आठ लोगों को बमुश्किल बचाया था। स्क्रैप कारोबारी इरशाद के घर में उनकी बेटी बबली की दो पुत्री दानिया और रूबिया की शादी होनी है। इरशाद का बेटा अयाज रानीखेत (अल्मोड़ा) में रहकर ठेकेदारी करता हैं। वह पत्नी शमा और सात वर्षीय बेटी नाफिया और चार वर्षीय बेटे इबाद के साथ आया था।

शमा रानीखेत में ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता थी। शादी के लिए हल्द्वानी से इरशाद की छोटी बेटी हिना व उसके पति नावेद और बेटी उमेमा भी आए थे। बताते हैं कि मकान के नीचे के हिस्से में कबाड़ भरा रहता है। पास ही दूसरे मकान में शादी की तैयारियां चल रही थीं। अधिकांश रिश्तेदार वहां थे। इरशाद, उनकी 70 वर्षीय पत्नी कमरजहां, बेटी-बहू और बच्चे पुराने मकान में ही मौजूद थे। हादसे में इरशाद की पत्नी कमर जहां, बहू शमा, पौत्री नाफिया, पौत्र इबाद के अलावा बेटी हिना की पुत्री उमेमा की जलकर मृत्यु हो गई। पुलिस ने देररात सभी का पोस्टमार्टम करा दिया। 

Post a Comment

0 Comments