To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

मुहब्बत में तेरी सब कुबूल है...


सनम इतनी इनायत किया करो,
समझ अपना हिदायत किया करो।
मुहब्बत में तेरी सब कुबूल है,
भले शिकवा-शिकायत किया करो।

किये जो भी वादे निभाओ सदा,
ये अच्छी रिवायत किया करो।
बताकर वक्त आता न है बुरा,
हमेशा ही किफ़ायत किया करो।

कटेगा सफर खामोश किस तरह,
जरा तुम भी हिकायत किया करो।
कभी रंजिश से होगा भला नहीं,
मुहब्बत बे-निहायत किया करो।

रजनी टाटस्कर
भोपाल, मध्य-प्रदेश

Post a Comment

0 Comments