To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया के 65 धर्म यात्रियों की बस ऋषिकेश में पलटी, महिला की मौत ; परिजन परेशान

बलिया। उत्तराखंड के ऋषिकेश में बस हादसे की सूचना मिलते ही बलिया के उन परिवारों में अफरा-तफरी मच गयी, जिनके सदस्य बस में सवार है। लोग अपने-अपने स्तर से जानकारी जुटाने में जुटे हुए है। लेकिन अपनों से बात न होने से परिजन परेशान है। 

गौरतलब हो कि जिले के अगरसंडा गांव से 21 जुलाई को बीडीसी सदस्य मुन्ना वर्मा के नेतृत्व में कांवरियों का जत्था 20 दिन की धार्मिक यात्रा पर निकला था।बस संख्या यूपी 54 टी 8131 पर सवार जत्था को बाबा धाम, अयोध्या, ऋषिकेश, माता वैष्णो देवी दर्शन इत्यादि धाम जाना था। गुरुवार को जत्था उत्तराखंड के ऋषिकेश पहुंचा था। वहां नीलकंठ महादेव मंदिर के दर्शन कर लौटते वक्त कांवरियों से भरी एक ओवरलोडिंग बस मुनिकीरेती के खारा स्रोत के समीप दुर्घटनाग्रस्त हो गई।

दुर्घटना के बाद यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। सूचना पर पहुंची पुलिस तथा एसडीआरएफ टीम ने आस-पास के लोगों के साथ बस में सवार यात्रियों को किसी तरह बाहर निकाला। घायलों को विभिन्न माध्यम से एसपीएस राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश पहुंचाया। हादसे में हल्दी थाना क्षेत्र के मझौवां निवासी इंदू देवी (50) पत्नी भरत की मौत हो गई, जबकि 64 यात्री घायल हो गए। 58 सीटर बस में लगभग 65 यात्री सवार थे। गंभीर रूप से घायल 10 यात्रियों को एम्स ऋषिकेश में रेफर किया गया है।

21 जुलाई को रवाना हुआ था जत्था

फेफना थाना क्षेत्र के अगरसंडा गांव के बीडीसी मुन्ना वर्मा ने दूरभाष पर बताया कि 21 जुलाई को 65 लोग दर्शन के लिए रवाना हुए थे। इसमें अगरसंडा के करीब 20, मिड्ढा के सात, मझौवा के 10, पहाड़ीपुर के दो, निधरिया के आठ, शहर व अन्य गांवों के कांवरियां शामिल थे। 

बाबा वैद्यनाथ व बासुकीनाथ का दर्शन करने के बाद जत्था अयोध्या पहुंचा, जहां से दर्शन करने के बाद उत्तराखंड के हरिद्वार गया। ऋषिकेश में दर्शन के बाद धर्म यात्रियों को जम्मू कश्मीर माता वैष्णो देवी के दर्शन के लिए रवाना होना था। लेकिन उत्तराखंड के ऋषिकेश में गुरुवार की शाम को बस पलट गई। हादसे में सवार सभी लोग घायल हो गए। इसमें से एक महिला की बस में दबने कारण मौत हो गई है। 

हादसे में घायल यात्री

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बस हादसे में अनानिया, अमित, मीठी, सहदेवी, अंकित गुप्ता, अजीत कुमार गुप्ता, रानो देवी, मंजू देवी, गणेश चौरसिया, भोला वर्मा, विमला, शिवजी, पार्वती, अंशुल, फुलझड़ियां, अंकित, फुलवंती, अभय नारायण, सुधा वर्मा, प्रकाश चंद मेहता, झूलन, प्रमिला, गोपाल, इंदु, गीता चौरसिया, नाकपति, रेणु मेहता,आशा देवी, हरि कृष्ण वर्मा, जगदंबा पासवान, मीरा गुप्ता, मंजू गुप्ता, अनु, गुप्तेश्वर, ज्ञायंती सिंह, अमला, कुंती देवी, दुर्गावती, पुष्पा, विनोद यादव, अवधेश पांडे, शिव कुमारी चौरसिया, यशोदा देवी, मंजू देवी, संजय कुमार, निर्मल वर्मा, अवध किशोर, कौशल्या देवी, राजकुमार, संजय गुप्ता शामिल हैं। 

Post a Comment

0 Comments