To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : तहसीलदार ने अधिवक्ता से किया दुर्व्यवहार, पहुंचे अफसर

बैरिया, बलिया। तहसीलदार के गलत आचरण के चलते शनिवार को बवाल होते होते बचा। बैरिया तहसील में उस समय हंगामा हो गया, जब तहसीलदार शैलेश चौधरी ने एक बुजुर्ग अधिवक्ता को तहसील सभागार में ही फर्श पर पटक दिया। वह एक समस्या के समाधान के लिए अधिकारियों के साथ सम्पूर्ण समाधान दिवस में बैठे तहसीलदार के पास गए थे। अन्य अधिवक्ताओं ने हंगामा करते हुए तहसील के सभी कार्यालयों व न्यायलयों से कर्मचारियों को निकालकर तालाबन्दी करा दिया। वहीं एसडीएम व अन्य अधिकारियों के साथ बैठे तहसीलदार के सामने पहुंचकर विरोध जताते हुए उन पर लपके, किन्तु समाधान दिवस में मौजूद एसएचओ बैरिया धर्मवीर सिंह, रेवती एसएचओ रमायण सिंह, थानाध्यक्ष दोकटी रोहन राकेश सिंह अपने सहयोगियों के साथ अधिवक्ताओं को किसी तरह रोका और आग्रह कर अधिवक्ताओं को शांत करना चाहा। अधिवक्ता उग्र व आक्रोशित थे। फिर एसडीएम आत्रेय मिश्र ने हाथ जोड़कर तहसीलदार की गलती स्वीकार करते हुए कार्रवाई के लिए रिपोर्ट भेजने का भरोसा दिया।

वरिष्ठ अधिवक्ता प्रेमचन्द श्रीवास्तव किसी समस्या के समाधान के लिए सम्पूर्ण समाधान दिवस में अधिकारियों के साथ बैठे तहसीलदार से आग्रह करने गए थे, तभी तहसीलदार शैलेश चौधरी नराज हो गए। अधिवक्ता का गर्दन पकड़कर फर्श पर पटक दिए। यह देख समाधान दिवस में जुटी जनता व अधिकारी अवाक रह गए। पुलिस वालों ने अधिवक्ता को सहारा देकर उठाया। इसकी सूचना अधिवक्ताओं तक पहुंची तो हंगामा की स्थिति उत्पन्न हो गयी। सैकड़ों अधिवक्ता जुटकर तहसीलदार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुए एसडीएम से तहसीलदार को बाहर निकालने की मांग करने लगे, तब पुलिस वालों ने एसडीएम के साथ मिलकर मामला सम्भाला। सैकड़ो की संख्या में अधिवक्ता तहसील बन्द कराने के बाद तहसील के मुख्य द्वार पर बैठकर नारेबाजी करते हुए तहसीलदार के बाहर निकलने का इंतेजार करने लगे। मौजूद थानाध्यक्षों के साथ एसडीएम ने अधिवक्ताओं को समझाकर मामला शान्त कराना चाहा, किन्तु अधिवक्ता मौके पर डीएम व एसपी को बुलाने की मांग करने लगे।

एसडीएम की सूचना पर अपर जिला अधिकारी वित्त व राजस्व राजेश कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक दुर्गाप्रसाद तिवारी व बांसडीह सीओ राजेश कुमार तिवारी मौके पर पहुचे। अधिवक्ता अपर जिलाधिकारी से तहसीलदार को तत्काल निलंबित करने, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने, उनकी विभागीय जांच कराने की मांग की।अधिवक्ताओं ने उक्त मांगों के साथ तहसीलदार पर एफआईआर दर्ज कराने के लिए अपर पुलिस अधीक्षक को तहरीर दिया। अपर जिलाधिकारी व अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा शख्त कार्रवाई के आश्वासन के बाद अधिवक्ता शांत हुए। वहीं तहसीलदार को पुलिस सुरक्षा में बलिया भेज दिया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ अधिवक्ता शिवजी सिंह, बसन्त पाण्डेय, रामनरायण सिंह, रुद्रदेव कुँवर, अरुण श्रीवास्तव, देवेन्द्र मिश्र, अजय सिंह, धनन्जय सिंह, शत्रुघ्न सिंह, रामप्रकाश सिंह, चन्द्रशेखर यादव, अजित सिंह, राकेश मिश्र सहित सैकड़ों अधिवक्ता मौजूद थे। अधिवक्ताओं ने तहसीलदार पर कई गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि तहसीलदार की आदत बन गयी है किसी न किसी से रोज ही बदसलूकी करने की। 

किसी को कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। इस प्रकरण पर जिलाधिकारी से परामर्श कर कार्रवाई की जाएगी।
राजेश कुमार सिंह एडीएम (वित्त व राजस्व)


पब्लिक बोली...

तहसीलदार बैरिया शैलेश चौधरी द्वारा शनिवार को  अधिवक्ता प्रेमचन्द श्रीवास्तव को सम्पूर्ण समाधान दिवस में अधिकारियों व वादकारियो के सामने अपमानित करने को लेकर आम जनमानस में आक्रोश है। लोगो का कहना है कि ऐसे तहसीलदार पर गम्भीर कार्रवाई होनी चाहिए। 

कांग्रेस नेता विनोद सिंह ने कहा कि तहसीलदार लापरवाह और जन विरोधी है। जनता से तहसीलदार सीधे मुंह बात नहीं करते है। ऐसे तहसीलदार की बैरिया को आवश्यकता नही है। कार्रवाई के साथ उनका शीघ्र स्थानान्तरण होना चाहिए। वही बैरिया निवासी अजय सिंह ने बताया कि द्वाबा की धरती संतों की धरती है, यहां के लोग ऐसे आचरण वाले तहसीलदार को कतई पसंद नहीं करेंगे उन पर विभागीय कार्रवाई हो और उनका स्थानांतरण हो। क्षेत्र के बलराम सिंह, राजकुमार तिवारी, मुन्ना सिंह, रमेश सिंह आदि ने पुरजोर तरीके से तहसीलदार पर कार्यवायी और स्थानान्तरण की मांग की है।


शिवदयाल पांडेय मनन

Post a Comment

0 Comments