To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया पुलिस को मुठभेड़ में मिली बड़ी सफलता, दो स्वर्णकारों के साथ चार गिरफ्तार

बलिया। बलिया पुलिस ने मुठभेड़ में अंतर्जनपदीय 04 नफर शातिर अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। उनके कब्जे से चोरी के 50,000/-रुपये नकद, चोरी गहने व अवैध शस्त्र/कारतूस बरामद हुआ है। गिरफ्तार अभियुक्तों में 02 स्वर्णकार है, जो चोरी का माल चोरों से खरीदते थे। 

सिकन्दरपुर पुलिस टीम के उनि वेदप्रकाश शुक्ल व उनि अखिलेश नारायण सिंह मय फोर्स द्वारा थाना क्षेत्र में चेकिंग के दौरान प्राप्त सूचना के आधार पर पुलिस मुठभेड़ में 16 जुलाई की सुबह करीब 04.30 बजे अशोक वनवासी पुत्र रामजन्म वनवासी (निवासी सलेमपुर बगाही, थाना वहरियाबाद, जनपद गाजीपुर) के पास से एक देशी तमंचा 315 बोर चालू हालत, प्लास्टिक में दो जोड़ी सफेद धातु की पायल, 4000/-रुपये व योगेश बनवासी पुत्र रामजन्म (निवासी सलेमपुर वगाही, थाना वहरियाबाद, जनपद गाजीपुर) के पास से एक मांगटीका, एक मंगलसूत्र का लाकेट, एक नथुनी, 02 कान का टप, 01 नथुनी का सहारा, 6000/ रुपये, अमरनाथ वर्मा पुत्र सुदामा वर्मा (निवासी मनियां गांव, थाना गहमर जनपद गाजीपुर) के पास से 20000/ रुपये तथा जितेन्द्र  चौहान पुत्र राजकुमार (निवासी तितिल उचवां, थाना तरवां, जनपद आजमगढ) के पास से 20000/ रुपये बरामद हुए। पुलिस ने धारा 307 भादवि व 3/25 आयुध अधिनियम में पाबंद कर चारों को चालान न्यायालय भेज दिया। 

बोले बदमाश, साहब अब नहीं करेंगे गलती

सिकन्दरपुर पुलिस टीम द्वारा पुलिस मुठभेड़ में अभियुक्त अशोक वनवासी पुत्र रामजन्म वनवासी  व योगेश बनवासी पुत्र रामजन्म को गिरफ्तार किया गया। इन अभियुक्तों ने ही पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नीयत से फायर किया। पूछताछ में बताया कि वे करीब एक माह पूर्व रामविलास पुत्र राजेन्द्र वनवासी (निवासी मनिया मिर्जाबाद थाना भांवरकोल जिला गाजीपुर) के साथ मिलकर नरायनपुर गांव के उत्तर तरफ पक्के मकान में बाउन्ड्री के सहारे दो मंजिला मकान में उपर के बने कमरे में ताला तोड़कर चोरी किये थे। इसके अतिरिक्त फरसाटार में दो स्थानों पर चोरी किया था। हम लोगो के पास से बरामद गहने नरायनपुर में लक्ष्मण सिंह के घर का है, जिसे हम लोग बेचने के लिए नवरतनपुर चट्टी पर जा रहे थे, जहां पर पहले से हम लोगो के पूर्व परिचित सुनार खड़े है। पकड़े गये अभियुक्तों की निशानदेही पर अन्य सुनार अभियुक्तों अमरनाथ वर्मा पुत्र सुदामा वर्मा, जितेन्द्र चौहान पुत्र राजकुमार को भी दबिस देकर गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में इन्होंने स्वीकार किया कि हमलोग स्वर्णकार हैं। अशोक, योगेश व रामनिवास से चोरी के गहने खरीदते हैं। अशोक औऱ योगेश ने शनिवार को गहने के पैसे लेने के लिए बुलाया था। मैने पैसा पूर्व में भी दिया था। शेष पैसे देने आये थे तथा कुछ नयी चोरी के गहने खरीदते, लेकिन पकड़ में आ गये। 

गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम

गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में उनि वेदप्रकाश शुक्ल, अखिलेश नारायण सिंह, कां. अजय चौधरी, राजकुमार यादव, आलोक, गुरूप्रसाद मौर्य, दिनेश चौधरी शामिल रहे।


रोहित सिंह मिथिलेश

Post a Comment

0 Comments