To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

गेम के आदी नाबालिग बेटे ने कर दी मां की हत्या

लखनऊ। पीजीआई के पंचमखेड़ा स्थित जमुनापुरम कालोनी में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां पबजी गेम के आदी नाबालिग बेटे ने न सिर्फ अपनी मां साधना सिंह (40) की हत्या गोली मारकर कर दी, बल्कि शव के साथ दो दिन व तीन रात तक घर में रहा। छोटी बहन को धमकी दी थी कि यदि पुलिस या किसी को बताया तो उसे भी मार देगा। मंगलवार को बदबू फैलने लगी तो कहानी गढ़ते हुए पिता को सूचना दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 

वाराणसी निवासी नवीन सिंह सेना में सुबेदार मेजर के पद पर तैनात है। उनकी तैनाती पश्चिम बंगाल के आसनसोल में हैं। उनका परिवार लखनऊ के पीजीआई के पंचमखेड़ा स्थित जमुनापुरम कालोनी में रहता है। परिवार में पत्नी साधना सिंह, 16 साल का बेटा और 9 साल की बेटी है। शनिवार की रात साधना दोनों बच्चों के साथ कमरे में सो रही थी। रात करीब 3 बजे बेटे ने पिता की लाइसेंसी पिस्तौल से मां के सिर में गोली मार दी। इससे साधना की मौत हो गई। वहीं छोटी बहन को धमकी देकर दूसरे कमरे में लेकर गया,  जहां दोनों सो गये। सुबह भी बहन को धमकी दी। 

पुलिस के मुताबिक, मां की हत्या करने के बाद आरोपी दो दिन व तीन रात घर में बहन के साथ पड़ा रहा। वह बार-बार उस कमरे में जाता था, जहां पर मां का शव पड़ा था। कमरे में रुम फ्रेशनर मारकर बदबू को भगाने की कोशिश करता था। मंगलवार रात करीब 9 बजे बदबू तेज हुई तो उसे डर लगने लगा। उसने आसनसोल में तैनात पिता को कॉल कर सूचना दी कि मां को किसी ने मार दिया। हम दोनों को कमरे में बंद कर दिया था। किसी तरह बाहर निकले है। इस पर पिता नवीन सिंह ने पड़ोसी दिनेश तिवारी को कॉल कर घर पर वारदात होने की जानकारी दी। दिनेश, नवीन के घर पहुंचे तो वहां दोनों बच्चे बरामदे में थे। उन्होंने पूछताछ की तो बताया कि किसी ने मां को मार दिया है। दिनेश कमरे में गये तो वहां बदबू से खड़ा नहीं हो सके। इस पर उन्होंने तत्काल पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस पड़ताल शुरू कर दी।

एडीसीपी पूर्वी के मुताबिक, साधना का शव जिस बेड पर पड़ा था, वहीं पर नवीन का लाइसेंसी पिस्तौल भी था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पिस्तौल को फोरेंसिक यूनिट को सुपुर्द कर दिया। पुलिस के मुताबिक हत्या शनिवार रात में की गई थी। बदबू दूर करने के लिए रुम फ्रेशनर व डिओड्रेंट का इस्तेमाल किया जा रहा था।

पुलिस के मुताबिक साधना का शव जिस बेड पर पड़ा था। वहीं पर नवीन का लाइसेंसी पिस्तौल भी पड़ा था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं पिस्तौल को फोरेंसिक यूनिट को सुपुर्द कर दिया। फोरेंसिक यूनिट ने मौके से कई साक्ष्य जुटाए। पुलिस के मुताबिक हत्या शनिवार रात में की गई थी। बदबू दूर करने के लिए रुम फ्रेशनर व डिओड्रेंट का इस्तेमाल किया जा रहा था।

पुलिस ने नवीन के नाबालिग बेटे से पूछताछ की। वहीं बेटी से महिला पुलिसकर्मियों ने पूछताछ किया। इस दौरान पूरा मामला खुलकर सामने आ गया। नाबालिग बेटे ने पुलिस के सामने कुबूल किया कि वह पबजी गेम खेलता था, जिसके लिए उसकी पिटाई होती थी। शनिवार को घर में 10 हजार रुपये गायब हो गये थे, जिस पर मां ने नाराजगी जाहिर की। रुपये चोरी करने का आरोप लगाते हुए पिटाई की। नाबालिग बेटे ने पुलिस को बताया कि घर में कोई भी गलत काम होता था तो उस का सारा आरोप उसी पर लगता था। फिर पिटाई होती थी। इसी नाराजगी में उसने मां की हत्या कर दी है।

Post a Comment

0 Comments