To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

तिरंगे में लिपटा गांव पहुंचा बलिया का लाल, सात जून को ही ड्यूटी पर गये थे विशाल

हल्दी, बलिया। सेना के जवान विशाल सिंह का तिरंगे में लिपटा शव पैतृक गांव हल्दी थाना क्षेत्र के मुड़ाडीह गायघाट पहुंचा तो कोहराम मच गया। मां किरन सिंह, बहन श्वेता सिंह, भाभी मोनी सिंह, भाई शनि सिंह के अलावा रिस्तेदारों तथा ग्रामीणों के रुदन-क्रंदन व चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया। वहां मौजूद लोगों की आंखों से अनायास ही आंसू निकल रहा था। अपने लाल की अंतिम झलक पाने को सैंकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। 

मुड़ाडीह गायघाट निवासी सेना के रिटायर्ड जवान स्व. राजकुमार सिंह के दो पुत्रों में विशाल सिंह (26) छोटा था। देश सेवा की ललक लिए विशाल 2015-16 में आर्मी में भर्ती हो गया। एएससी कोर के जवान विशाल की तैनाती अमृतसर में थी। इधर, उसकी तबीयत बिगड़ी तो 11 जून को जालंधर के एमएच में भर्ती कराया गया। 


इलाज के दौरान सोमवार को विशाल की मौत हो गई। इसकी जानकारी होते ही परिजनों का रोते-रोते बुरा हाल हो गया। गांव में शोक की लहर दौड़ गई। मंगलवार को विशाल का शव सेना वाहन से घर पहुंचा तो लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। लोगों में अपने लाल की एक झलक पाने की होड़ मच गई। भीड़ को चीर रही थी तो चीत्कारें और सिसकियां।


सात जून को ही ड्यूटी पर लौटे थे विशाल

गायघाट निवासी सेना के जवान विशाल सिंह के बड़े भाई शनि सिंह की शादी 31 मई 2022 को ही थी। विशाल अपने भाई की शादी में शामिल हुए। छुट्टी समाप्त होने के बाद सात जून को वह अपने यूनिट के लिए चले गये। ग्रामीणों के मुताबिक विशाल काफी हंसमुख और मिलनसार स्वभाव के थे। 

एके भारद्वाज

Post a Comment

0 Comments