To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

खिलाड़ियों के लिए तैयार हुआ बलिया का संत यतीनाथ मिनी स्टेडियम : भाजपा सांसद और विधायक ने किया लोकार्पण

सुखपुरा, बलिया। यदि मन में कुछ बेहतर करने की इच्छाशक्ति हो तो बाधाएं भी हमसफर बन जाती है... इस उक्ति का सजीव उदाहरण संत यतीनाथ मिनी स्टेडियम है। शिक्षक उमेश कुमार सिंह की सोच और प्रधान अभिमन्यु चौहान की पहल से यह स्टेडियम खिलाड़ियों के अनुरूप बनकर तैयार हो गया, जिसका लोकार्पण सांसद रविंद्र कुशवाहा एवं विधायक केतकी सिंह ने संयुक्त रुप से शिला पट्टिका लगाकर किया।

स्टेडियम में ड्रेसिंग रूम एवं अन्य सुविधाओं के लिए सांसद निधि से 10 लाख 

संत यतीनाथ मिनी स्टेडियम सुखपुरा के जीर्णोद्धार, सुंदरीकरण, दर्शकदीर्घा, ओपन जिम एवं पाथवे लोकार्पण के लिए बुधवार की देर शाम आयोजित भव्य समारोह को सम्बोधित करते हुए सांसद रविंद्र कुशवाहा ने कहा कि गांव के विकास और स्टेडियम में अन्य निर्माण के लिए धन की कोई कमी नहीं होगी। प्रदेश सरकार तो बिना मांगे ही धन मुहैया करा रही है। उन्होंने स्टेडियम में खिलाड़ियों के ड्रेसिंग रूम एवं अन्य सुविधाओं के निर्माण को सांसद निधि से 10 लाख रूपये का प्रस्ताव बनाकर विभाग को भेजने की जानकारी दी। 

स्टेडियम के विकास को हमदम मिलूंगी तैयार : केतकी सिंह

विधायक केतकी सिंह ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गांव के विकास के बारे में स्वयं चिंतित है। अभी दो-चार दिन पहले प्रदेश सरकार ने प्रत्येक गांव में बारात घर व मुक्तिधाम बनाने की घोषणा की है। बारात घर के लिए 35 लाख और मुक्तिधाम के लिए 24 लाख रुपए शासन से ग्राम पंचायतों को मिलेगा। कहा कि स्टेडियम को और आधुनिक बनाने के लिए जिस प्रकार के सहयोग की आवश्यकता होगी, मैं करने के लिए पूर्ण रूप से तैयार हूं। 

स्टेडियम को संवारने वाले मजदूर सम्मानित

संत यतीनाथ मिनी स्टेडियम सुखपुरा को आकर्षक रूप देने में तीन माह का समय लगा है। स्टेडियम के जीर्णोद्धार, सुंदरीकरण, दर्शकदीर्घा, ओपन जिम एवं पाथवे निर्माण में लगे मजदूरों को ग्राम पंचायत सुखपुरा की तरफ से सांसद और विधायक ने माल्यार्पण के बाद अंगवस्त्रम देकर सम्मानित किया।समारोह को ब्लाक प्रमुख चंद्र भूषण सिंह, हृदय नारायण सिंह व प्रबंधक रविंद्र सिंह ने भी संबोधित किया। इस मौके पर खंड विकास अधिकारी प्रमिला सिंह, जिला क्रीड़ा अधिकारी अतुल सिन्हा, एडीओ पंचायत अवधेश पाण्डेय, अवर अभियंता संजय कुमार, ग्राम विकास अधिकारी भरत सिंह, संगम यादव, अजय पाल सिंह, प्रमोद सिंह, राजेश सिंह, अजय सिंह, तूफानी सिंह, मुन्ना सिंह, भतरू राजभर, सरल राजभर, नौशाद अली, पप्पू सिंह आदि मौजूद रहे। अध्यक्षता विजय शंकर सिंह व संचालन कमलेश मिश्र ने किया। कार्यक्रम संयोजक उमेश कुमार सिंह ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।

पाती उमेश कुमार सिंह के नाम

उमेश कुमार सिंह
प्रधानाध्यापक/ कार्यक्रम संयोजक 
संत यतीनाथ मिनी स्टेडियम दर्शक दीर्घा एवं ओपन जिम जीर्णोद्धार, सुंदरीकरण समिति सुखपुरा, बलिया

यह जान कर अति प्रसन्नता हो रही है कि आप के एवं अभिमन्यु चौहान वर्तमान ग्रामप्रधान सुखपुरा के अथक प्रयास से ग्राम सुखपुरा के विकास कार्यक्रम में संत यतीनाथ मिनी स्टेडियम दर्शक दीर्घा एवं ओपन जिम जीर्णोद्धार एवं सुंदरीकरण का एक और अतुलनीय कार्य पूर्ण हुआ है। इस अतुलनीय कार्य हेतु मैं आपको तथा  विजय शंकर सिंह  भूतपूर्व प्रधानाचार्य, अभिमन्यु चौहान ग्राम प्रधान सुखपुरा एवं समिति के अन्य सम्मानित सदस्य गण को बहुत बहुत धन्यवाद देता हूँ। साथ ही बाबा विश्वनाथ एवं भृगुबाबा से प्रार्थना करता हूँ कि वे आपलोगों को ऐसे ही पुनीत कार्य करने का अदम्य साहस, शक्ति एवं बुद्धि प्रदान करे, जिससे ग्राम सुखपुरा एवं उनके जनमानस का गौरव एवं कीर्तिमान सदैव आगे बना रहे। वह कर्मवीरों कि भूमि है। यहां के स्वतन्त्रता संग्राम सेनानियों ने अपने प्राणों कि आहुति दे कर इस ग्राम का नाम स्वर्ण अक्षरों में अंकित किया है। ईश्वर ने आपको एक महान अवसर प्रदान किया है, जिससे आप ग्राम सुखपुरा का नाम रोशन कर सकें। ऐसे ही जान कल्याण के कार्यों को आप एवं आपकी पूरी टीम करती रहे, मेरी ईश्वर से यही प्रार्थना है।
मुझे बहुत खुशी हुई कि इस पुनीत अवसर का साक्षी बनाने हेतु आपने मुझे भी आमंत्रित किया था, लेकिन मैं काशी हिन्दू विश्वविद्यालय एवं सर सुन्दर लाल चिकित्सालय की कुछ महत्वपूर्ण जिम्मेदारी की वजह से इसका साक्षी नहीं बन पा रहा हूँ। भविष्य में फिर कभी अवश्य पूर्ण करूँगा। मुझे सादर आमंत्रित करने के लिए आपको एवं आपकी पूरी टीम को साधुवाद एवं मेरे ग्राम सुखपुरा के सभी वरिष्ठ नागरिको को सादर चरण स्पर्श एवं साथी एवं अनुज को बहुत बहुत प्यार।

आपका ही
डा. शिव जी गुप्ता 
विभागाध्यक्ष
शल्य तंत्र विभाग
आयुर्वेद संकाय काशी हिन्दू विश्वविद्यालय
वाराणसी

Post a Comment

0 Comments