To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

उमंग 2022 में कुछ यूं दिखा बलिया के बच्चों की प्रतिभा का संकल्प


बलिया। उमंग 2022 में बच्चों की प्रतिभा देख बड़ों के मुख से अनायास ही निकल रहा था कमाल। महज 25 दिनों की तैयारी, लेकिन मंच पर निर्भीक होकर प्रस्तुति दे रहे बच्चों को देखकर लग रहा था कि ये बच्चे मजे़ हुए कलाकार हैं। यह सब हो रहा था बलिया स्थित श्री मुरली मनोहर टाउन इंटर कॉलेज के सभागार में।

बताते चलें कि जनपद के वरिष्ठ रंगकर्मी आशीष त्रिवेदी के निर्देशन में संकल्प साहित्यिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था बलिया द्वारा 25 दिवसीय अभिनय प्रशिक्षण एवं व्यक्तित्व विकास कार्यशाला चलाया जा रहा था, जिसका समापन 23 जून की देर शाम श्री मुरली मनोहर टाउन इंटर कॉलेज के सभागार में हुआ।  

उमंग 2022 में बच्चों द्वारा की गई प्रस्तुति ने सबका दिल जीत लिया। कार्यक्रम में विशेष रूप से नाटक चिरईया, दो कलाकार और भो-भो खो-खो की प्रस्तुति शानदार रही। इन नाटकों के माध्यम से बच्चों ने बेटी बचाओ, सामाजिक एकता और समरसता तथा कलाकारों की व्यथा को बखूबी दर्शाया।

'बेसन की सोंधी रोटी पर खट्टी चटनी जैसी मां'

बच्चों ने हिंदी साहित्य की उत्कृष्ट कविताओं 'उतनी दूर मत ब्याहना' (निर्मला पुतुल), 'औरतें' (रमाशंकर यादव विद्रोही), 'बच्चे काम पर जा रहे हैं' (राजेश जोशी) एवं 'पुष्प की अभिलाषा' (माखनलाल चतुर्वेदी) की प्रभावशाली प्रस्तुति की। बच्चों ने गीतों के माध्यम से समाज को बेहतर संदेश देने का काम किया। 'मिल के चलो, मिल के चलो, ये वक्त की आवाज है, मिल के चलो', 'वो सुबह कभी तो आएगी', 'बेसन की सोंधी रोटी पर खट्टी चटनी जैसी मां' जैसे समूह गीतों के अलावा पार्थ ओझा, श्रेयसी पाण्डेय व आकर्षिका पाठक के एकल गीत की लोगों ने खूब तारीफ की।

बच्चों की प्रतिभा को तराशने में ट्विंकल की भूमिका अहम

बच्चों की प्रतिभा को तराश कर मंच पर बेझिझक खड़ा करने और अपने कला का प्रदर्शन करने के लिए तैयार करने में युवा रंगकर्मी ट्विंकल गुप्ता की अहम भूमिका रही। ट्विंकल ने बच्चों को अभिनय एवं काव्य पाठ का प्रशिक्षण दिया।  आनंद कुमार चौहान ने अभिनय और कृष्ण कुमार यादव मिट्ठू ने बच्चों को गायन विधा में निपुण किया। 

उमंग 2022 में इनकी रही प्रतिभागिता

उमंग 2022 में ईशान पाठक, आदित्य कुमार,  ज्योति साहनी, देवेशी, श्रेयसी पाण्डेय, शुभ पांडेय, अभिज्ञान पांडेय, ख्याति सिंह, प्रतीक कुमार, समृद्धि उपाध्याय, चंदन गुप्ता, अभ्यांश सिंह,  दिव्यांश सिंह, दीपक, शांभवी रवि प्रिया, समृद्धि सिंह, अर्नव कुंवर, शशि प्रभा सिंह, प्रत्यूष कुमार,  आकर्षिका पाठक, सक्षम गुप्ता व पार्थ ने प्रमुख रूप से प्रतिभाग किया।

श्रेयसी पांडेय और पार्थ ओझा को मिला विशेष प्रतिभा सम्मान

जनपद के वरिष्ठ साहित्यकार डॉ जनार्दन राय, पत्रकार अशोक जी, प्रोफेसर यशवंत सिंह, डॉ. भोला प्रसाद आग्नेय, डॉ गणेश पाठक एवं डॉक्टर अखिलेश सिन्हा द्वारा बच्चों को प्रमाण पत्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। श्रेयसी पांडेय और पार्थ ओझा को विशेष प्रतिभा सम्मान से सम्मानित किया गया। 

दर्शकों ने खूब बढ़ाया बच्चों का उत्साह

भारी बारिश के बावजूद बच्चों के उत्साह वर्धन को दर्शकों की उपस्थिति से हाल खचाखच भरा हुआ था। इस अवसर पर डॉ. इफ्तिखार खान, सपना पाठक, दिनेश पाठक, डॉ कादम्बिनी सिंह, नन्दिनी तिवारी, सपना पांडेय, शैलेश पांडेय, अरविंद उपाध्याय, अनिल मिश्र, संतोष सिंह, अभिनव पाठक, राजकुमार गुप्ता, समीर पाण्डेय समेत सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार डॉ जनार्दन राय व संचालन रंगकर्मी  आशीष त्रिवेदी ने किया।

Post a Comment

0 Comments