To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

सुरेमनपुर स्टेशन पर परेशान रहे यात्री, तीन लाख का टिकट वापस ; अलर्ट रहा प्रशासन

बैरिया, बलिया। अग्निपथ योजना को लेकर जारी बवाल के चलते सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर लगभग तीन लाख रुपये के टिकट वापस हुए। वहीं पूरे दिन रेलवे सुरक्षा बल, राजकीय रेल पुलिस, स्थानीय पुलिस व तहसील प्रशासन के अधिकारी चक्रमण करते रहे, ताकि यहां कोई अप्रिय घटना न हो। वहीं एहतियात के तौर पर अन्य क्षेत्रों में भी पुलिस चक्रमण पूरा दिन करती रही।

अप पवन एक्सप्रेस व डाउन बलिया-सियालदह एक्सप्रेस का परिचालन निरस्त कर देने के चलते रेलवे को अकेले सुरेमनपुर में तीन लाख रुपये का टिकट वापस करना पड़ा। वहीं अप इंटरसिटी एक्सप्रेस व अप सियालदह-बलिया एक्सप्रेस के अलावा कोई भी ट्रेन सुरेमनपुर के रास्ते नही गुजरी।छपरा-वराणसी के बीच चलने वाली 05445 अप व 05446 डाउन तथा छपरा से औड़िहार के बीच चलने वाली 05135 अप व 05136 डाउन पैसेंजर ट्रेन को निरस्त कर दिया गया। दोपहर बाद तक छपरा-सारनाथ एक्सप्रेस छपरा में, डाउन उत्सर्ग एक्सप्रेस चिलकहर में,डाउन लखनऊ-छपरा एक्सप्रेस युसुफपुर में, अप ताप्ती गंगा छपरा में व अप सद्भावना एक्सप्रेस मुजफ्फरपुर में खड़ी थी। किसी भी ट्रेन के दोपहर के बाद तक नही आने से स्टेशन पर यात्रियों की भारी भीड़ जमा हो गयी थी। महिलाएं, बच्चें व वृद्ध गर्मी से परेशान थे।स्टेशन पर पेयजल व खाने-पीने के सामग्रियों का अभाव पैदा हो गया। पानी के बोतल निर्धारित मूल्य से अधिक पर बेचे गये।उपजिलाधिकारी बैरिया आत्रेय मिश्र, क्षेत्राधिकारी बैरिया अशोक कुमार मिश्र, आरपीएफ के उपनिरीक्षक शत्रुघ्न द्विवेदी, जीआरपी के उपनिरीक्षक अशोक कुमार के अलावा स्थानीय पुलिस के जवान पूरे दिन सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर जमे रहे, जिससे माहौल शांत रहा।

ट्रेनों के बारे में पूछते रहे लोग

सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की भारी भीड़ ट्रेनों की प्रतीक्षा में तड़के सुबह से दोपहर बाद तक बैठी रही। स्टेशन अधीक्षक से लोग ट्रेनों आगमन के विषय मे पूछते रहे। किन्तु वह कुछ भी स्पष्ट नही बोल पा रहे थे। वह यात्रियों को समझाते हुए देखे गए कि कंट्रोल रूम से अगर कोई सूचना किसी ट्रेन के विषय मे मिलती है तो तुरंत ध्वनि विस्तारक यन्त्र से सूचना प्रसारित कर दी जाएगी।


शिवदयाल पांडेय मनन

Post a Comment

0 Comments