To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

इक शख़्स सारे शहर को वीरान कर गया : पंचतत्व में विलीन हुए 'तेज', सोशल मीडिया पर दिखा 'प्रताप' Ballia News

बलिया। प्राशिसं रसड़ा के अध्यक्ष व जिला मंत्री तेज प्रताप सिंह पंचतत्व में विलीन हो गये। उनका अंतिम संस्कार वाराणसी के मणिकर्णिका घाट पर किया गया, जहां छोटे पुत्र ने पिता को मुखाग्नि दी। इस वक्त वहां मौजूद हर किसी की आंखों का कोर भींग गया। वहीं, प्राशिसं के जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह साथी को कंधा देते समय फूट-फूट कर रोये। बोले, इतने मजबूत साथी का यूं जाना, हम सबके लिए अपूर्णीय क्षति है।


शिक्षा क्षेत्र रसड़ा के कम्पोजिट विद्यालय रसड़ा नम्बर एक पर तैनात शिक्षक तेज प्रताप सिंह का निधन शनिवार की सुबह वाराणसी के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान हो गया। उनके निधन की सूचना मिलते ही शिक्षा जगत स्तब्ध रह गया। चहुंओर शोक की लहर दौड़ पड़ी। व्यवहार कुशल व्यक्तित्व और मिलनसार प्रवृति के धनी शिक्षक नेता के निधन की जानकारी होते ही श्रीनाथ मठ के महंत कौशलेन्द्र गिरी, नपा रसड़ा के चेयरमैन वशिष्ठ नारायण सोनी, प्राथमिक शिक्षक संघ बलिया के जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह, चिलकहर के अध्यक्ष राधेश्याम सिंह, अरूण कुमार पांडेय, अनिल सिंह सेंगर, बलवंत सिंह इत्यादि शिक्षक व शुभचिंतक वाराणसी पहुंच गये।शिक्षक नेता के अंतिम संस्कार में शामिल होकर गतात्मा की शांति के लिए प्रार्थना किये। 

इक शख़्स सारे शहर को वीरान कर गया...

शिक्षक नेता तेज प्रताप सिंह के निधन की सूचना जैसे ही लोगों तक पहुंची, वे अवाक रह गये। सहसा किसी को विश्वास ही नहीं हुआ कि हमेशा मुस्कराकर जिन्दादिली से मिलने वाला शख्स यूं ही दुनिया छोड़ गया। फिर सोशल मीडिया के जरिये शिक्षक नेता तेज प्रताप सिंह के तेज' का जिक्र करते हुए शोक संवेदना व्यक्त किया जाने लगा। एक शिक्षक ने लिखा 'बिछड़ा कुछ इस अदा से कि रुत ही बदल गई, इक शख़्स सारे शहर को वीरान कर गया...। इसी तरह एक और शिक्षक ने लिखा, 'जख्म तो वक्त से साथ भर ही जायेंगे, लेकिन आप वापिस कैसे लौट कर आयेंगे। इसी तरह एक शिक्षक ने लिखा है 'जिन्हें शौक से सुन रहा था जमाना, वही सो गया दास्तां कहते कहते।'

वहीं, शिक्षक नेता तेज प्रताप सिंह सिंह के असमय निधन से जुड़ी Purvanchal24.com की खबर पर अब तक 18 हजार से अधिक लोगों ने संवेदना व्यक्त की है। किसी ने उन्हें प्राशिसं का स्तम्भ तो किसी ने बलिया जनपद के शिक्षक-शिक्षिकाओं एवं कर्मचारियों के अधिकारों और हितों का प्रबल रक्षक बताया है। सभी ने उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि देते हुए गतात्मा की शांति तथा परिवार को यह असह्य दुःख सहन करने की शक्ति के लिए विधाता से प्रार्थना की है। 

विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन ने दी श्रद्धांजलि 

प्राथमिक शिक्षक संघ के जनपदीय मंत्री तेजप्रताप सिंह के आकस्मिक निधन पर विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन ने श्रद्धांजलि दी। एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष डॉ. घनश्याम चौबे ने कहा कि जनपद ने शिक्षक हितों के एक सजग प्रहरी को खो दिया है। जिला मंत्री धीरज राय ने अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि तेजप्रताप सिंह जी के असामयिक से हम सब हतप्रभ हैं। शोक सभा में अरुण कुमार सिंह, डॉ. आशुतोष शुक्ला, अवनीश सिंह, नित्यानंद पांडेय, जितेंद्र यादव, राजेन्द्र तिवारी, अनिल सिंह, जनार्दन दुबे, शर्मानाथ यादव, संजय वर्मा, अरविन्द श्रीरश्मि, उपेन्द्र नारायन सिंह, सुरेश वर्मा, रविन्द्र तिवारी, राजकुमार यादव, विजय कुमार,अखिलेश कुमार उपाध्याय,मृत्युंजय शर्मा, धनंजय पाठक, सुनील कुमार, सुनील कुमार सिंह, मु.अतहर इर्शाद, अरुण मिश्रा, हरेंद्र प्रसाद, अभय राठौर, राजाराम यादव, ओमप्रकाश यादव, अजय चौबे, सुनील यादव, दिनेश कुमार कन्नौजिया, अरुण मिश्रा आदि रहे।

Post a Comment

0 Comments