To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

नवदम्पती समेत परिवार के सात लोगों का एक साथ हुआ अंतिम संस्कार, रो पड़ा हर कोई

हरदोई। मथुरा में शनिवार को तड़के हुए सड़क हादसे में संडीला इलाके के सुंदरपुर टिकरा निवासी एक ही परिवार के सात लोगों की मौत का गम हर चेहरे पर है। न सिर्फ घर-परिवार, बल्कि पूरा गांव सिसकियां भर रहा है। पोस्टमार्टम के बाद गांव पहुंचे सात शवों को देख कोहराम मच गया। मातमी माहौल में नवदंपति के साथ सभी का अंतिम संस्कार एक साथ किया गया। उस वक्त तो मानों कुछ पल के लिए प्रकृति भी खामोश हो गई। 

गौरतलब हो कि सुंदरपुर निवासी लल्लू, शकुंतला पत्नी लल्लू, बेटे संजय, निशा पत्नी संजय, राजेश, नंदनी पत्नी राजेश, धीरज, कृष पुत्र संजय, श्रीगोपाल के साथ कार द्वारा नोएडा जा रहे थे। यमुना एक्सप्रेसवे पर मथुरा में अज्ञात वाहन की टक्कर से कार सवार सात लोगो की मौत हो गई थी और श्रीगोपाल व कृष घायल हो गए थे। उनका इलाज नोएडा के एक निजी अस्पताल में चल रहा है। 

वहीं, पोस्टमार्टम के बाद गांव पहुंचे सात शव देखकर परिजनों में कोहराम मच गया। ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। गांव में चहुंओर सन्नाटा पसर गया। करुण-क्रंदन व चीत्कार के बीच सभी का अंतिम संस्कार एक साथ किया गया। इस मौके विधायक अलका सिंह अर्कवंशी, सांसद प्रतिनिधि नरेंद्र बाजपेई, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि अमित गुप्ता, सपा विधान सभा अध्यक्ष आरपी यादव, एसडीएम डीपी सिंह, सीओ महावीर सिंह सहित पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे। 

सात दिन पहले ही लिया था सात फेरा

सुंदरपुर टिकरा निवासी लल्लू का पूरा परिवार नोएडा में काम करता था। 30 अप्रैल को उनके पुत्र राजेश की शादी थी, लिहाजा 20 अप्रैल को ही सभी लोग गांव आए थे। एक मई को राजेश की बरात दुल्हन नंदिनी को विदा कराकर लौटी थी। परिवार में एक और शादी थी तो लल्लू और उनके पुत्र रुक गए। सभी वैवाहिक कार्यक्रम निपटाने के बाद लल्लू अपनी पत्नी शकुंतला, पुत्र राजेश तथा साथ उसकी दुल्हन नंदिनी, बड़े पुत्र संजय, उनकी पत्नी निशा, पौत्र धीरज और कृष के साथ ही पुत्र श्रीगोपाल के साथ शुक्रवार की रात करीब 11.30 बजे कार से नोएडा के लिए निकले थे। शनिवार की सुबह करीब पांच बजे मथुरा के नौहझील क्षेत्र में यमुना एक्सप्रेस-वे पर उनकी कार हादसे का शिकार हो गई। इसमें श्रीगोपाल और संजय के छोटे पुत्र कृष को छोड़कर सभी सात लोगों की मौत हो गई। हादसे की खबर पहुंचते ही परिवार में कोहराम मच गया। जिस आंगन में खुशियां थीं, वहां पर मौत का मातम पसर गया है। 

Post a Comment

0 Comments