To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया के विभिन्न संस्थानों में व्यवसायिक परख और कॅरियर चुनाव की बारिकियां समझने निकले सनबीम 12वीं के छात्र



बलिया। वर्तमान शिक्षा प्रणाली पूर्णतया प्रायोगिक एवं क्रियात्मकता पर आधारित बन चुकी है। ऐसे में छात्रों के सामने सबसे बड़ी चुनौती श्रेष्ठ करियर का चुनाव करने की है। कक्षा 12वीं में पहुंचते ही छात्रों के सामने मुख्य समस्या भी यही होती है कि उच्च शिक्षा के लिए किन व्यवसायिक परीक्षाओं का चयन किया जाए। अपने छात्रों की राह आसान बनाने के लिए सनबीम स्कूल बलिया ने एक नई पहल की शुरुआत की है। कक्षा 12 वीं के सभी छात्रों के लिए 'प्रोफेशन ऑवजरवेशन एंड इंटर्नशिप' के नाम से 7 दिवसीय प्रशिक्षण को अनिवार्य कर दिया गया है, ताकि छात्र अपने विषयानुसार करियर के चुनाव की बारीकियों को समझें और भविष्य में उसका समुचित क्रियान्वयन कर सकें।  


नई शिक्षा नीति 2020 के लागू होने के पश्चात शिक्षा पूर्ण रूप से कौशल पर आधारित बन चुकी है, जिसका उद्देश्य विद्यार्थियों को क्रियात्मकता में  प्रवीण किया जा सकें। शिक्षा के इस आधुनिक स्वरूप को अंगीकृत करते हुए अपने विद्यार्थियों के पूर्ण विकास के लिए बलिया जिले का सनबीम स्कूल बहुउद्देशीय शिक्षा के क्षेत्र में सदैव नित नए आयाम प्रस्तुत करता आया है। अपने विद्यार्थियों के हित में अनेकों अनूठे प्रयोग करते रहने से जिले में यह सदैव चर्चा का केंद्र-बिंदु भी रहता है।

विद्यार्थी जीवन में कक्षा बारहवीं का महत्व सर्वविदित है। यह जीवन का वह महत्वपूर्ण चरण है, जहां से विद्यार्थी अपने करियर रूपी पंख को प्रथम उड़ान देता है। अपने छात्रों की प्रतिभा को निखारने के लिए 23 मई से 30 मई तक सात दिवसीय इंटर्नशिप प्रोग्राम आयोजित कर सनबीम स्कूल ने एक नई शुरुआत की है।

इस सात दिवसीय प्रोग्राम का उद्देश्य विद्यार्थियों द्वारा सैद्धांतिक रूप (थ्योरी) में पढ़े गए पाठों को प्रयोगात्मक रूप में उतारने का मौका देना है। जिससे बच्चे पुस्तकीय ज्ञान का प्रत्यक्ष अनुभव कर सके। विदित हो कि सनबीम स्कूल में कक्षा बारहवीं की विज्ञान वर्ग (गणित, जीव विज्ञान), वाणिज्य वर्ग तथा कला वर्ग की कक्षाएं संचालित होती हैं, जिसमें कुल 200 बच्चे अध्ययनरत है।

विद्यालय के निदेशक डॉ कुंवर अरुण सिंह ने इस इंटर्नशिप कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी दी। कहा कि 'हमारे विद्यार्थी इंटर्नशिप हेतु 23 मई से 30 मई तक अपने विषय के अनुसार निर्धारित स्थान क्रमशः पीसीएम वर्ग : टाउन पॉलीटेक्निक कॉलेज एवं आर्किटेक्ट ऑफिस, पीसीबी वर्ग : शांति पैरामेडिकल कॉलेज एवं इंस्टीट्यूट मझौवा, वाणिज्य वर्ग : एक्सिक बैंक एवं जिले के प्रसिद्ध सीए  (चार्टर्ड अकाउंटेंट) सरदार बलजीत सिंह के कार्यालय एवं कला वर्ग के विद्यार्थी जिला न्यायालय में वरिष्ठ अधिवक्ताओं के नेतृत्व में विधि और कानून का अध्ययन कर रहे है। 

श्री सिंह ने कहा कि ऐसा पहली बार है, जब कक्षा बारहवीं के छात्र इंटर्नशिप कर अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट स्वयं तैयार करेंगे। तत्पश्चात उनके द्वारा तैयार किए गए रिपोर्ट का मूल्यांकन कर उनका उचित मार्गदर्शन किया जाएगा। इस प्रोग्राम के माध्यम से प्रत्येक विद्यार्थी का परीक्षण किया जा सकेगा कि वह अपने विषयगत प्रशिक्षण को प्राप्त करने में सक्षम हो सका है। इस इंटर्नशिप प्रोग्राम द्वारा विद्यार्थी अपने भीतर की प्रतिभा को पहचान सकेंगे। उसे और निखारने का प्रयत्न कर सकेंगे।  


विद्यालय की प्रधानाचार्या डॉ अर्पिता सिंह ने बताया कि इस इंटर्नशिप कार्यक्रम को लेकर बच्चे बहुत उत्साहित है। उन्होंने कहा इससे बच्चे अपने कार्यक्षेत्र का चुनाव करने योग्य बन सकेंगे तथा उनमें अपना लक्ष्य निर्धारित करने की योग्यता विकसित होगी। इस सात दिवसीय इंटर्नशिप प्रोग्राम हेतु उन्होंने बच्चों को शुभकामनाएं दी।

Post a Comment

0 Comments