To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : पांच माह में 25 किलोमीटर की दूरी नहीं तय कर सके डाक्टर साहब, जिम्मेदार कौन ?

बैरिया, बलिया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनवानी से पांच माह पूर्व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा के लिए स्थानांतरित नेत्र चिकित्सक डॉक्टर निशांत कहां गए, लोगों को आज तक पता नहीं चल पाया है। सोनवानी से कार्यमुक्त होने के बाद सोनबरसा उन्होंने कार्यभार  ग्रहण नहीं किया। लोगों का कहना है कि अगर पांच माह पूर्व कच्छप गति से भी सोनवानी से डाक्टर साहब चले होते तो कब के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा पहुंच गए होते। सोनवानी से कार्यमुक्त, सोनबरसा में योगदान नहीं और वेतन भुगतान रेगुलर। आखिर यह किसके दम पर ? इस संदर्भ में मुख्य चिकित्साधिकारी की भी स्थिति स्पष्ट नहीं है। उन्होंने भी टालने वाला ही उत्तर दिया है।

नेत्र चिकित्सक डॉक्टर निशांत का स्थानांतरण मुख्य चिकित्साधिकारी ने अपने पत्र संख्या 2021/ 22/93 के क्रम में 12 दिसंबर 2021 को कर दिया था। डॉक्टर निशांत को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनवानी से कार्यमुक्त होकर सोनबरसा कार्यभार ग्रहण करने के लिए सीएमओ ने आदेश दिया था, किंतु 15 मई तक यानी कि पूरे पांच महीने बीत गए डॉक्टर निशांत सोनबरसा नहीं आए। फिर विभाग ने भी उनकी सुधि नही ली। आखिर गए तो डॉक्टर निशांत कहां गए। 

विभागीय सूत्रों ने बताया है कि पांच महीनों में डॉक्टर निशांत नियमित स्वास्थ्य विभाग से वेतन प्राप्त कर रहे हैं। एक स्वास्थ्य कर्मी ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि वह स्वास्थ विभाग के किसी बड़े अधिकारी के रिश्तेदार हैं। जिनके हस्तक्षेप से वह घर बैठे वेतन की सुविधा ले रहे हैं। इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विनोद सिंह ने मुख्य चिकित्साधिकारी से आग्रह किया है कि सोमवार तक उन्हें सोनबरसा में ज्वाइन करा दें। अन्यथा मंगलवार को उनके गुमशुदगी का रिपोर्ट बैरिया थाने में दर्ज कराऊंगा। दूसरी तरफ सीएमओ से पूछने पर उन्होंने बताया कि पता करा रहा हूं डॉक्टर निशांत कहां है। इस प्रकरण की जांच कराई जाएगी। जांचोपरांत उचित कार्रवाई की जाएगी।

जब सरकार ने सभी महकमों में अटैचमेंट की सुविधा समाप्त कर दी है तो ऐसे में बलिया के स्वास्थय विभाग में अटैचमेंट का खेल कैसे चल रहा है। यह चर्चा का विषय है। ऐसे लोगों की तादाद बड़ी है, जो स्वास्थ्य कर्मी या चिकित्साधिकारी के रूप में तैनात कहीं और हैं अटैचमेंट कहीं और। रह कहीं और रहे हैं। ताजा उदाहरण के लिए पिछले 28 अप्रैल को नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र गंगापुर में तैनात सफाई कर्मी ओम प्रकाश रावत का अटैचमेंट सदर अस्पताल के लिए कर दिया गया है। आखिर इसके लिए कौन जिम्मेदार है ?


शिवदयाल पांडेय मनन

Post a Comment

0 Comments