To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : श्री राम लक्ष्मण जानकी मंदिर पर भू-माफियाओं की नजर

बलिया। शहर के कदम चौराहा स्थित श्री राम लक्ष्मण जानकी मंदिर (छोटी मठियाद्ध) को अवैध तरीके से हड़पने की साजिश का आरोप लगाते हुए मंदिर के महंथ सत्यदेव दास ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा है। महंथ ने लिखा है कि एक व्यक्ति जो अपने को पेशे से प्राइवेट इंजिनियर कहता है और उसका सगा भाई जो किसी सरकारी स्कूल में अध्यापक है। ये मुहल्ला भृगुआश्रम शहर बलिया के रहने वाले है तथा जिले के बड़े भू-माफिया के रूप में चर्चित है। ये दोनों शहर के कुछ बाहुबली व जिले के बाहरी व्यक्तियों के साथ मिलकर लाक डाउन के दौरान उपरोक्त मंदिर की अधिकतम प्रापर्टी को अवैध तरीके से औने-पौने मूल्य पर अपने पारिवारिक एवं चहेते व्यक्तियों को विक्रय कर चुके है, जबकि मंदिर के पूर्व के महंथ श्री राम प्रसाद दास चेला जयनारायण दास उर्फ सियाराम दास द्वारा अपने रजिस्टर्ड वसीयत के माध्यम से यह स्पष्ट किया गया है कि ‘उपरोक्त मंदिर की चल अचल सम्पत्ति को आगे आने वाला कोई भी मंदिर का उत्तराधिकारी किसी के पक्ष में न तो विक्रय कर सकता है न उस पर भार पैदा कर सकता है न ही किसी को हंस्तातरित कर सकता है।'

बावजूद जालसाजी व कूटरचना करके उपरोक्त कुकृत्य किया गया। जब मुझे उक्त अवैध कृत्य की जानकारी हुयी तो हमारे अलावा अन्य स्थानीय व्यक्तियों के खिलाफ कई दीवानी एवं फौजदारी के मुकदमे न्यायालय में दाखिल किये गये है, जो विचाराधीन है। इसमें मुख्य रूप से सिविल वाद न्यायालय सिविल जज (सीडी) बलिया मुकदमा नं. 434/2019 विचाराधीन है। इसमें न्यायालय द्वारा दिनांक 05 फरवरी 2020 को स्थगन आदेश जारी किया गया है, जिसमें दोनो पक्षों को यथा स्थित बनाये रखने का आदेश पारित हुआ है।

इससे क्षुब्ध होकर उपरोक्त तीनों भू-माफियाओं व उनके नाजायज गुण्डो द्वारा मुझे व मंदिर के अन्य संतो को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। जबरजस्ती मंदिर एवं उसके चल अचल सम्पत्ति पर कब्जा करके हम प्रार्थी को महंथ पद से बेदखल करने की साजिश की जा रही है। उपरोक्त व्यक्तियों द्वारा एक सप्ताह के अन्दर मेरे उपरोक्त मंदिर पर हाथी घोड़े और सशस्त्र गुण्डो के माध्यम से चढ़ाई करके मेरी तथा मेरे मंदिर के अन्य संतो को हत्या करने व मंदिर पर न्यायालय के आदेश के बावजूद अवैध कब्जा करने पर आमादा है। न्यायहित में उपरोक्त साजिश को रोकने हेतु उचित कार्यवाही किया जाना तथा मंदिर में रहने वाले साधु संतो की व्यवस्था सुनिश्चित किया जाना जरूरी व न्याय संगत है। महंथ ने श्री राम लक्ष्मण जानकी मंदिर पर संभावित धार्मिक विद्रोह व खून खराबा रोकने तथा साधु संतो व मंदिर की सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए उपरोक्त व्यक्तियों के विरूद्ध उचित कानूनी कार्यवाही की मांग की है।

Post a Comment

0 Comments