To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में अवैध असलहा फैक्ट्री का भंडाफोड़, दो सगे भाईयों के साथ तीन गिरफ्तार

बलिया। दुबहड पुलिस ने अवैध शस्त्र, कारतूस व असलहा बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। मामले में पुलिस ने तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार भी किया है। इनके पास से एक डीबीबीएल गन (दोनाली 12 बोर), एक एसबीबीएल (एकनाली 12 बोर), 11 जिन्दा कारतूश .32 बोर, 11 जिन्दा कारतूश 12 बोर, दो जिन्दा कारतूश .303 बोर, दो खोखा कारतूस .315 बोर के अलावा असलहा बनाने की सामग्री एक देशी तमंचा .315 बोर, पुराना टूटा हुआ हुलिया 32 इंच, बैरल 8 इंच बाड़ी, 07 इन्च बट, दो देशी तमंचा अर्धनिर्मित .12 वोर, एक देशी रिवाल्वर .32 वोर अर्धनिर्मित, चार .12 वोर तमंचा का बाडी अर्ध निर्मित, एक बैरल 12 बोर लंबाई 19.5 इंच, एक बैरल .315 वोर लंबाई 6.5 इंच, तमंचा ट्रेगर 8, दो खोखा .315 वोर बरामद शुदा जिन्दा कारतूस, एक हथौड़ी, रेती दो, आरी एक, बसुली एक, छेनी तीन, सुम्मी एक, सड़सी एक तथा एक कारतूस बेल्ट बरामद किया गया।

थानाध्यक्ष दुबहड अतुल कुमार मिश्र मय फोर्स द्वारा चेकिंग के दौरान मुखबिर की सूचना पर अवैध असहला के साथ अरशद खान उर्फ मिट्ठू पुत्र एजाज खान (निवासी घोड़हरा, दुबहड़) व इरफान खान उर्फ सुनील पुत्र एजाज खां (निवासी घोड़हरा, दुबहड़) को घोड़हरा ढाला से गिरफ्तार किया गया। पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछ ताछ में बताया कि कुछ दूर पर हमारी वेल्डिंग की दुकान है। उसी की आड़ में कमरे के अन्दर हम दोनो भाई व मेरा एक और भाई इमरान खान उर्फ मुन्ना व एक सहयोगी कारीगर हसरत खान है, हम सब मिलकर अवैध असलहा का निर्माण करते है। उसे बिहार राज्य में बेचते हैं। हमलोगों का एक गैंग है, जिसका मुखिया इमरान खान उर्फ मुन्ना है।

पकड़े गये व्यक्तियों की निशानदेही पर पुलिस टीम ने घोड़हरा ढाला स्थित वेल्डिंग की दुकान पर पहुंची तो कमरे में एक व्यक्ति हसरत खान पुत्र मुख्तार खान (निवासी अकबरपुर थाना बांसडीहरोड) को पुलिस बल द्वारा पकड़ लिया गया। दूसरा व्यक्ति तेजी से भाग निकला। पकड़े गये अभियुक्त के पास से 11 जिन्दा कारतूस .32 बोर बरामद हुआ। भागने वाले व्यक्ति के विषय में पूछा गया तो उसका नाम इमरान खान उर्फ मुन्ना पुत्र एजाज खां (निवासी घोड़हरा, दुबहड़) बताया। अभियुक्तगणों की निशानदेही पर वेल्डिंग दुकान से असलहा बनाने की सामग्री भी बरामद हुई।गिरफ्तार अभियुक्तों के विरूद्ध सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर पुलिस ने चालान न्यायालय कर दिया। पुलिस टीम में थानाध्यक्ष के अलावा एसआई शिवकुमार पाण्डेय, का. सुरेन्द्र कुमार, सुनिल कुमार, विमलेश कुमार, राहुल सरोज, एचसी रामआसरे, रामसिंह, महिला कां.  सविता यादव व साधना यादव शामिल रही।

Post a Comment

0 Comments