To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

Ballia Triple Murder Case : बलिया में तिहरे हत्याकांड का सनसनीखेज खुलासा, गिरफ्तार अभियुक्तो ने बताई खौफनाक कहानी

बलिया। हल्दी थाना क्षेत्र के सोनवानी गांव में हुए ट्रिपल मर्डर का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या से एक्शन मोड में आई पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। मामला पैसे के लेनदेन का बताया जा रहा है। अभियुक्तों की निशानदेही पर आला कत्ल चाकू बरामद किया गया है।         


अपर पुलिस महानिदेशक जोन वाराणसी राम कुमार, पुलिस उपमहानिरीक्षक आजमगढ़ अखिलेश कुमार व पुलिस अधीक्षक बलिया राज करन नय्यर ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि सोनवानी गांव में उमाशंकर सिंह तथा उनके दो पुत्र विक्रम सिंह व संदीप सिंह की हत्या में गांव के प्रवीण कुमार सिंह उर्फ भोलू पुत्र सत्यनारायण सिंह, मानवेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ छोटू पुत्र टुनटुन सिंह, अमन सिंह उर्फ मोनू पुत्र अनिल सिंह तथा संजीत सिंह पुत्र मोती चंद सिंह को गिरफ्तार किया गया है। बताया कि हल्दी अंतर्गत ग्राम सभा सोनवानी में शव मिलने की सूचना पर स्थानीय पुलिस द्वारा मृतक की पहचान गांव के ही आनंद विक्रम सिंह पुत्र उमाशंकर सिंह के रूप में किया गया, जिनके घर जाने पर पता चला कि इनके पिता उमाशंकर सिंह पुत्र स्व. राम चंद्र सिंह का शव उनके घर पर पड़ा है। 

यह भी पढ़ेंबलिया में ट्रिपल मर्डर : एक-एक कर मिला एक ही परिवार का खून से लथपथ तीन शव, दहशत में पूरा गांव

मुकदमा पंजीकृत कर घटना की गंभीरता के दृष्टिगत वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराते हुए सफल अनावरण को अपर पुलिस महानिदेशक जोन वाराणसी राम कुमार के मार्गदर्शन व पुलिस उपमहानिरीक्षक आजमगढ़ अखिलेश कुमार के दिशा निर्देशन में तत्काल पांच टीमें गठित किया गया। गठित टीम द्वारा अभियुक्तों की निशानदेही पर मृतक आनंद विक्रम सिंह के भाई संदीप सिंह का शव भी कुएं से तथा घटना में प्रयुक्त आला कत्ल चाकू भी बरामद किया गया। मृतक का मोबाइल फोन व कपड़ा तथा अभियुक्त द्वारा घटना के दौरान पहने गए खून के निशान वाले कपड़े भी बरामद किया गया। 

गिरफ्तार अभियुक्तों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि संदीप सिंह व प्रवीण सिंह उर्फ भोलू के बीच में पैसे के लेनदेन को लेकर विवाद था। इस वजह से भोलू सिंह व अन्य साथियों द्वारा संदीप सिंह की हत्या कर शव को कुएं में छिपा दिया गया। संदीप सिंह को उनके घर से ले जाते समय पिता उमाशंकर सिंह व भाई आनंद विक्रम सिंह ने देख लिया था, जिस कारण अभियुक्तों द्वारा उनके भाई व पिता की भी हत्या कर दी गई। 


रोहित सिंह मिथिलेश


Post a Comment

0 Comments