To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

'साहब' बने एआरपी के खिलाफ बलिया बीएसए का बड़ा एक्शन, बीआरसी पर 'नो इंट्री'

बलिया। बीएसए शिवनारायण सिंह ने शिक्षा क्षेत्र रसड़ा के एआरपी सुरेन्द्र चौहान के लिए बीआरसी रसड़ा को प्रतिबंधित एरिया (Prohibited Area) घोषित कर दिया है। यानी एआरपी सुरेन्द्र चौहान अब बीआरसी रसड़ा कार्यालय में इंट्री नहीं कर सकेंगे। यदि इंट्री होगी भी तो खंड शिक्षा अधिकारी की लिखित अनुमति पर। बीएसए ने आदेश में स्पष्ट किया है कि यदि बगैर अनुमति बीआरसी रसड़ा कार्यालय पर उपस्थिति की शिकायत मिली तो न सिर्फ अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी, बल्कि एआरपी पद पर हुआ चयन भी निरस्त कर दिया जायेगा।

गौरतलब हो कि रसड़ा क्षेत्र के एक व्यक्ति ने जिलाधिकारी से शिकायत किया था कि शिक्षा क्षेत्र रसड़ा के एकेडमिक रिर्सोस पर्सन (एआरपी) सुरेन्द्र चौहान ने ब्लाक संशाधन केन्द्र (बीआरसी)/कार्यालय खंड शिक्षा अधिकारी पर कई वर्षों से एक कमरा अवैध रूप से कब्जा किया है, जहां बैठकर अवैध कार्यो को व्यवहरित करते है। उक्त कमरे में वीआईपी कुर्सी, पंखा व इंटरनेट आदि की व्यवस्था दी गई है। प्रति वर्ष कमरे की रंगाई-पुताई भी की जाती है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि श्री चौहान का कार्य विकास खंड के विद्यालयों में जाकर शिक्षकों को सपोर्टिव सुपरविजन प्रदान करना हैं, लेकिन वे सुबह आठ बजे से रात तक विभिन्न संदिग्ध कार्यो में लिप्त रहते है। 

यह भी पढ़ेंएक व्यक्ति कर रहा दो जिले में नौकरी : बलिया में प्रधानाध्यापक, लखीमपुर में है सहायक अध्यापक ; नोटिस जारी

शिकायत के मुताबिक, एआरपी के पद पर चयनित सुरेन्द्र चौहान आज तक अपने मूल विद्यालय कम्पोजिट विद्यालय नवापुरा, शिक्षा क्षेत्र रसड़ा पर कोई सुधार नहीं कर सकें। विद्यालय छात्रविहीन है। इनके द्वारा बीआरसी पर कब्जा किये गये कमरे का उपयोग अध्यापकों से अवैध वसूली, उत्पीड़न व मद्यपान के लिए किया जाता है। पूर्व में भी उक्त कृत्यो की वजह से इनका स्थानांतरण शिक्षा क्षेत्र नगरा में किया जा चुका है, लेकिन अपने प्रभाव के बल पर ये बीआरसी रसड़ा पर जमें हुए है। उक्त शिकायत को गंभीरता से लेते हुए बीएसए ने एआरपी सुरेन्द्र चौहान की बीआरसी रसड़ा पर नो इंट्री कर दी है। 

Post a Comment

0 Comments