To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में दौड़ा यूपी, आसाम और बंगाल : सेना का जवान बना चतुर्थ चंद्रशेखर हाफ मैराथन का बोल्ट

बलिया। पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर जी की जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रमों की कड़ी में मंगलवार को सुबह चंद्रशेखर हाफ मैराथन प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। इसमें शामली के रहने वाले सेना के जवान अजय कुमार ने बाजी मार ली, जबकि आकाश पटेल, वाराणसी व संतोष यादव, पश्चिम बंगाल क्रमशः दूसरे व तीसरे स्थान पर रहे। प्रथम विजेता को एक लाख, द्वितीय को 50 हजार, तृतीय विजेता को 25 हजार, चौथे को 15 हजार, पांचवें को आठ हजार, 6वें को 4 हजार, 7वें को 2 हजार, 8वें से 15वें तक को दो-दो हजार तथा 16 से 21वें स्थान तक के प्रतिभागियों को 500-500 रुपये की इनाम राशि बहुद्देश्यीय सभागार में दी गई।

इससे पहले शारदा ऑटोमोबाइल पचखोरा से शुरू हुए हाफ मैराथन प्रतियोगिता का शुभारंभ राज्यसभा सांसद नीरज शेखर, भाजपा जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू व एथलेटिक्स एसोसिएशन के सचिव पीके श्रीवास्तव ने हरी झंडी दिखाकर किया। स्टार्टिंग प्वाइंट से करीब 500 धावकों ने हरी झंडी दिखाने के बाद दौड़ना शुरू किया। शुरुआत से ही चेस्ट नम्बर-487 के अजय कुमार, चेस्ट नम्बर-282 के आकाश पटेल व चेस्ट नम्बर-337 के सन्तोष यादव सबसे आगे दौड़ रहे थे। सुखपुरा पोस्ट हो या बहादुरपुर, इन तीनों एथलीटों को अन्य कोई एथलीट पार नहीं कर सका। मैराथन के पूरे रास्ते में सभी चेक पोस्टों पर मैराथन समिति के वालंटियर्स के साथ-साथ स्थानीय नागरिकों ने पुष्प वर्षा कर एथलीटों का हौसला बढ़ाया। जगह-जगह नींबू व पानी लेकर वालंटियर्स उपलब्ध थे। इस हाफ मैराथन के सबसे बुजुर्ग 72 वर्षीय धावक चन्द्रभान सिंह के हौसले को हर कोई सलाम कर रहा था।

अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता बनाने का होगा प्रयास : नीरज शेखर

राज्यसभा सदस्य नीरज शेखर ने सभी प्रतिभागियों का हौसला बढाते हुए शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि इस मैराथन समिति का आभारी हूँ, जिनके सहयोग से इतना बड़ा आयोजन हो रहा है। इस प्रतियोगिता का और व्यापक रूप हो, यह प्रतियोगिता अंतराष्ट्रीय स्तर की बन सके, इसके लिए एथलेटिक्स एसोसिएशन की ओर से मार्गदर्शन की अपेक्षा की। भरोसा दिलाया कि एसोसिएशन के हर निर्देश का पालन यह राष्ट्रनायक चंद्रशेखर मैराथन समिति करेगी। उन्होंने भरोसा दिलाया कि इस आयोजन की हर कमियों को दूर कर और बेहतर बनाया जाएगा। इसमें हर स्तर से मेरा सहयोग होगा।


अगला मैराथन सरकार की ओर से, महिलाएं भी होंगी शामिल: उपेन्द्र

पूर्व मंत्री उपेंद्र तिवारी ने कहा, इस मैराथन को राज्य सरकार की ओर से सरकारी मैराथन का दर्जा दिलवाने के लिए खेल मंत्री से मिलूंगा। सांसद नीरज शेखर और मेरी यह कोशिश होगी कि अगला मैराथन हो तो उसमें सरकार का महत्वपूर्ण सहयोग मिले। यही नहीं, अगले हाफ मैराथन दौड़ में महिला प्रतिभागियों को भी शामिल होने की आवश्यकता पर बल दिया। पूर्व मंत्री की इस बात पर हर किसी ने हामी भरी।


यहां के प्रमाण-पत्र को मिले वरीयता, इसका होगा प्रयास

बहुद्देश्यीय सभागार में पुरस्कार वितरण के बाद नीरज शेखर ने कहा कि प्रतिभागी यहां से जो प्रमाण-पत्र लेकर कहीं जाएं तो उसका जरूर कुछ लाभ मिले, एथलेटिक्स एसोसिएशन व सरकार के माध्यम से ऐसा सुनिश्चित कराने का प्रयास होगा। खिलाड़ियों से आवाह्न किया कि यहां दौड़ने के बाद आगे भी प्रयास जारी रखें और अपने जिले, प्रदेश व देश का नाम रोशन करें।

इस हाफ मैराथन को मिल सकता है बड़ा आयाम

एथलेटिक्स एसोसिएशन के सचिव पीके श्रीवास्तव ने कहा कि इस प्रतियोगिता को और बड़ा आयाम दिया जा सकता है। इसमें एसोसिएशन की ओर से पूरा सहयोग होगा। इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष जयप्रकाश साहू, पूर्व प्रमुख अनिल सिंह, ज्ञानकुंज एकेडमी के प्रबंधक देवेंद्र सिंह, गड़वार प्रमुख अतुल सिंह सहित भारी संख्या में लोग मौजूद थे। राष्ट्र नायक मैराथन समिति के सचिव उपेंद्र सिंह ने सभी अतिथियों और वहां मौजूद लोगों के प्रति आभार जताया। संचालन प्रदीप यादव ने किया।

सेना के जाट रेजिमेंट का जवान है शामली का अजय

हाफ मैराथन में पहला स्थान पाए अजय कुमार सेना का जवान है और जाट रेजिमेंट में तैनात है। प्रतियोगिता की शुरुआत से ही अजय ने बढ़त बनाई और उसे विजेता बनने तक बनाए रखा। पूरे रास्ते सड़क पर दोनों तरफ इकट्ठा हुए लोग प्रतिभागियों का हौसला बढ़ाने में लगे हुए थे। बहादुर अजय की स्टैमिना और हौसले की हर कोई तारीफ करता दिखा।

21वें स्थान तक के प्रतिभागी पुरस्कृत

प्रतियोगिता में पहले स्थान पर अजय कुमार शामली, दूसरे पर आकाश पटेल वाराणसी व तीसरे पर संतोष यादव पश्चिम बंगाल रहें। अजय ने एक घण्टा एक मिनट 48 सेकंड में, आकाश ने एक घण्टा तीन मिनट छह सेकंड तथा सन्तोष ने एक घण्टा तीन मिनट 27 सेकंड में अपना लक्ष्य हासिल किया। इनके अलावा चौथे स्थान पर अभिषेक सोनी निवासी सतना एमपी, 5वें पर वीरू कुमार चंदौली, 6वें पर आनंद सिंह रावत अल्मोड़ा, 7वें पर रुस्तम कुमार गोरखपुर, 8वें पर राजकुमार चौबे आसाम, 9वें पर साहब सिंह बलिया, 10वें पर नीतीश कुमार बलिया, 11वें पर अंकित कुमार हरदोई, 12वें पर धीरज मौर्या जौनपुर, 13वें पर विनीत राठी बुलन्दशहर, 14वें पर मनीष कुमार मऊ, 15वें पर उमेश यादव गाजीपुर, 16वें पर अमित कुमार चंदौली, 17वें पर अभिषेक यादव जौनपुर, 18वें पर सुशील कुमार मऊ, 19वें पर बृजेश साहनी बलिया, 20वें पर पिंटू कुमार गोरखपुर व 21वें पर शशि कुमार आजमगढ़ रहे। इन्हें अतिथियों के साथ इंजीनियर अरूण सिंह, डॉ. जयदीप सिंह, क्रीड़ाधिकारी बलिया अतुल सिन्हा, उप क्रीड़ाधिकारी प्रयागराज देवी प्रसाद, दिनेश जायसवाल, विनोद कुमार, बाराचंवर प्रमुख कौशल सिंह, भाजयुमो जिलाध्यक्ष अश्वनी सिंह लिटिल, गोरक्ष प्रांत उपाध्यक्ष आशुतोष सिंह, प्राशिसं जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह, शैक्षिक महासंघ के संयोजक राजेश सिंह, अमरेन्द्र सिंह ने पुरस्कार, स्मृति चिन्ह व शील्ड देकर पुरस्कृत किया। 

आयोजन में इनका रहा सहयोग

आयोजन में कोषाध्यक्ष मनोज शर्मा, उमेश सिंह, धर्मवीर सिंह, आशुतोष तोमर, संतोष तिवारी, बालेश्वर वर्मा, संतोष चौबे, धर्मेंद्र सिंह, चंदन सिंह, शेषनाथ सिंह, अनुराग श्रीवास्तव, सुधीर सिंह, रत्नाकर, केके यादव, रूपेश सिंह, आशीष त्रिवेदी, अखिलेश सिंह शक्ति, राजेश सिंह, अजीत सिंह, अनिल सेंगर, पंकज राय, सुधीर सिंह, सन्तोष सिंह, संजय सिंह, रणवीर मंटू, अजय, पंकज राय, रूस्तम अली, सरदार मो. अफजल, संतोष कुमार, पंकज सिंह, परमात्मा यादव, शैलेन्द्र यादव, नवीन सिंह, श्याम नारायण तिवारी, धीरेन्द्र राय, राजू सिंह, अमित सिंह, नवतेज सिंह, राजेश यादव, भावतोष पांडेय आदि का विशेष सहयोग रहा।

Post a Comment

0 Comments