To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

मांझी रेल पुल पर मिले युवक-युवती के शव की हो गई शिनाख्त, थे प्रेमी युगल !

बैरिया, बलिया। माझी रेल पुल पर अप सद्भावना एक्सप्रेस के सामने कूदकर आत्महत्या करने वाले युवक और युवती की पहचान हो गई है। बिहार के माझी पुलिस की माने तो युवक का नाम शुभम कुमार पुत्र सत्यम चौरसिया (निवासी रिविलगंज जनपद छपरा बिहार), जबकि युवती की पहचान दोकटी थाना क्षेत्र के मुकामी गांव निवासी सुनीता चौरसिया के रूप में हुई है। पुलिस के अनुसार दोनों काफी दिनों से एक दूसरे से प्रेम करते थे। दोनों आपस में शादी करना चाहते थे, लेकिन परिवार के लोग इसके लिए राजी नहीं थे। इसके कारण दोनों ने अपनी इहलीला समाप्त कर ली है।

गौरतलब हो कि मांझी रेलवे पुल पर उत्तर प्रदेश के हिस्से में उक्त युवक और युवती का शव मिला था। किंतु रेलवे सुरक्षा बल के हस्तक्षेप से दोनों शवों को बिहार के माझी पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर पहचान के लिए थाने में रखा था। परिजनों द्वारा शवों के पहचान के बाद दोनों शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए छपरा भेज दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद दोनों शवों को उनके परिजनों को सुपुर्द कर दिया। बताया जा रहा है कि युवती की बहन की शादी युवक के पड़ोस में हुई है। बहन के ससुराल आने-जाने के दौरान दोनों एक दूसरे के नजदीक आ गए। चर्चा है कि युवती की शादी कहीं और तय हो गई थी, इसलिए दोनों ने एक साथ जान दे दी।


मांझी रेल पुल के बगल में निर्माणाधीन रेल पुल पर काम कर रहे मजदूरों ने बताया कि युवक-युवती मौत से घंटों पहले से पुल के बीच में मैन प्लेटफार्म पर बैठकर बात करते रहे। कभी एक दूसरे के कंधे पर सिर रख तो कभी एक दूसरे के गोद में सिर रख बात करते रहे। आम लोग और ट्रेन के आवागमन से बेपरवाह जोड़ा घंटों अपने में मशगूल रहा।

कुछ घंटे बाद सामने से आ रही ट्रेन को देखकर अचानक दोनों रेल पटरी पर आ धमके। ट्रेन से टकराने से पूर्व दोनों ने एक-दूसरे का हाथ जकड़ लिया और जोर से चिल्लाते हुए जान दे दी। यह वाकया देख हमलोगों के होश उड़ गए और हमलोग ट्रेन के पुल से बाहर निकलते ही भाग खड़े हुए। प्रेमी टी-शर्ट और पैंट तथा प्रेमिका सलवार सूट पहने हुई थी। घटना के बाद पुल में बड़ी संख्या में देखने वाले जमा

शिवदयाल पांडेय मनन

Post a Comment

0 Comments