To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

सीएम योगी की वर्चुअल मौजूदगी में वाराणसी से गोरखपुर के बीच विमान सेवा शुरू

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश की वायु सेवा में रविवार को एक और नया अध्याय शामिल हो गया। वाराणसी से गोरखपुर समेत उत्तर प्रदेश के अलग अलग छह शहरों से सीधी उड़ान सेवा का शुभारंभ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की वर्चुअल उपस्थिति में हुआ। इसके साथ ही देवाधिदेव महादेव की नगरी काशी और गुरु गोरखनाथ की नगरी गोरखपुर वायुमार्ग से जुड़ गई।

वाराणसी से गोरखपुर तक की विमान सेवा की शुरुआत की गई है। स्पाइसजेट एयरलाइंस द्वारा यात्रियों को बोर्डिंग पास के साथ लाल बहादुर शास्‍त्री अंतरराष्‍ट्रीय एयरपोर्ट पर पुष्प देकर सम्मानित किया गया। इस विमान सेवा से महज 50 मिनट में ही यात्री वाराणसी से गोरखपुर पहुंच जाएंगे।  

वाराणसी-गोरखपुर फ्लाइट शुभारंभ समारोह में लखनऊ स्थित अपने आवास से वर्चुअल जुड़े मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में आज नौ एयरपोर्ट क्रियाशील हैं, जबकि पांच वर्ष पूर्व तक यह संख्या महज चार थी। कहा कि प्रदेश में हवाई सेवाओं के विस्तार से सिर्फ आवागमन ही सुगम नहीं हुआ है, इससे पर्यटन और रोजगार की संभावनाओं को भी पंख लगे हैं। पहले इन एयरपोर्ट से मात्र 25 गंतव्यों के लिए हवाई यात्रा की सुविधा थी, जबकि आज 75 गंतव्यों की यात्रा की जा सकती है। 

विमान के टेक ऑफ से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअल झंडी दिखाकर रवाना किया। विमान से यात्रा करने वाले यात्रियों में खुशी की लहर देखी गई। 

सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपार संभावनाएं हैं। आवश्यकता इन संभावनाओं को आगे बढ़ाने की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंशा के अनुरूप भारत को दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने में उत्तर प्रदेश के विकास की महती भूमिका होगी। इस दृष्टिगत गोरखपुर-वाराणसी, गोरखपुर-कानपुर, वाराणसी-मुम्बई, कानपुर-पटना समेत यूपी से देश और प्रदेश के छह गंतव्यों के लिए फ्लाइट का आज से शुरू होना, विकास की नई ऊंचाइयों को छूने में सहायक होगा। 

यूपी की राह पर चलने को संकल्पित होता है देश

नई हवाई सेवा शुभारंभ समारोह में ग्वालियर से वर्चुअल जुड़े केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश की राजनीति को रास्ता बताता है। यूपी जिस राह पर चलता है, देश उसी राह पर चलने को संकल्पित होता है।

Post a Comment

0 Comments