To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

सहायक अध्यापक को बीएसए ने किया सस्पेंड, ये है आरोप


प्रयागराज। यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान संवैधानिक पदों पर आसीन जनप्रतिनिधियों पर अभद्र टिप्पणी करने के साथ ही पार्टी विशेष का प्रचार-प्रसार करना कम्पोजिट विद्यालय सरांय ख्वाजा बहरिया के शिक्षक अजीत यादव को महंगा पड़ गया है। मामले में स्पष्टीकरण का जबाब न देने पर बीएसए प्रवीण कुमार तिवारी ने शिक्षक अजीत यादव को सस्पेंड कर दिया है। 

यह भी पढ़ेंबलिया : शिक्षक और शिक्षिका आमने-सामने, चार नामजद ; लगी संगीन धाराएं

शिक्षक अजीत यादव की शिकायत मिलने पर बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण कुमार तिवारी ने 5 मार्च को नोटिस जारी करते हुए दो दिन में साक्ष्यों के साथ स्पष्टीकरण तलब किया था। लेकिन उन्होंने स्पष्टीकरण नहीं दिया। इसे अध्यापक आचरण सेवा नियमावली के विपरीत आचरण करार देते हुए बीएसए ने शिक्षक अजीत यादव को निलंबित कर दिया। मामले की जांच खंड शिक्षा अधिकारी कौड़िहार ओम प्रकाश मिश्र को दी गई है। वहीं, निलंबन अवधि में अजीत यादव ब्लॉक संसाधन केंद्र कौड़िहार में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे। 

ये है आरोप

1-विधान सभा सामान्य निर्वाचन-2022 हेतु एक राजनैतिक दल के लिये जनसम्पर्क, जनसभा एवं प्रचार-प्रसार में सक्रिय रूप से भागीदारी किये जाने का दोषी पाया जाना। 

2-संवैधानिक पदों पर आसीन व्यक्तियों/ जनप्रतिनिधियों के विरूद्ध अमर्यादित टिप्पणी किये जाने का दोषी पाया जाना।

3-आदर्श आचार संहिता लागू होने एवं सरकारी कर्मचारी होने के बावजूद राजनीतिक व्यक्तियों के साथ मंच पर प्रतिभागिता करना एवं राजनीतिक प्रचार-प्रसार किये जाने का दोषी पाया जाना।

4-बीएसए कार्यालय द्वारा प्रेषित स्पष्टीकरण दिनांक 05.03.2022 का उत्तर न दिये जाने का दोषी पाया जाना।

5-पदीय दायित्वों के प्रति घोर लापरवाही बरते जाने का दोषी पाया जाना। 

6-अध्यापक आचरण सेवा नियमावली के विरूद्ध कार्य किये जाने का दोषी पाया जाना।

Post a Comment

0 Comments