To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : सनबीम स्कूल के परिन्दों ने 'जोश' के साथ भरी नवीन सत्र की पहली उड़ान


बलिया। प्रारम्भ और समापन ही जीवन के दो महत्वपूर्ण बिंदु है, परंतु समापन में ही सदैव  नवीनता के आरंभ की प्रतिध्वनि समाहित होती है। इस उक्ति को चरितार्थ करते हुए शहर से सटे अगरसंडा स्थित सनबीम स्कूल बलिया में नवीन शैक्षणिक सत्र 2022-23 का प्रारंभ शनिवार (12 मार्च) को किया गया। सत्र के शुरुआत में प्रमुख आकर्षण का केंद्र रहा विद्यालय प्रांगण में लगाया गया स्पोर्ट्स कैंप जोश। 


विदित हो कि विद्यालय द्वारा अपने विद्यार्थियों के शैक्षणिक विकास की प्रतिबद्धता के साथ ही मनोरंजन, शारीरिक, मानसिक और क्रियात्मक विकास को बढ़ावा देने के लिए सात दिवसीय स्पोर्ट्स कैंप जोश का आयोजन किया गया है। इसमें विभिन्न खेल (खो-खो, वॉलीबॉल, बास्केटबाल, चेस, स्केटिंग शूटिंग आदि) का प्रशिक्षण दिया जायेगा। 

यह भी पढ़ेंएक बार फिर सनबीम बलिया ने बढ़ाया जिले का मान, शिक्षा जगत में नई क्रांति का संकेत

शनिवार को इस कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि जिला क्रीड़ा अधिकारी अतुल सिन्हा ने तुलसी वेदी पर दीप प्रज्ज्वलन के साथ ही फीता काटकर किया। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि मानव जीवन में खेल का स्थान अति महत्वपूर्ण है। किसी भी कार्य को करने के लिए व्यक्ति का स्वस्थ होना आवश्यक है। खेल वह माध्यम है, जो मनुष्य को शारीरिक और मानसिक दोनों रूपों से स्वस्थ रखता है।


विद्यालय के निदेशक डॉ कुंवर अरुण सिंह ने कहा कि विगत दो वर्षों से कोविड-19 से उत्पन्न वीभत्स परिस्थितियों के कारण समाजिक दूरी के नियमों का पालन और विद्यालयी शिक्षा में अनिरन्तरता के कारण बच्चों की शारीरिक क्षमता प्रभावित हुई है। निरंतर घर में रहने कारण उनकी शारीरिक ऊर्जा क्षीण हुई है। ऐसे में ऊर्जा वृद्धि के लिए बच्चों का खेलना अति आवश्यक है। खेल द्वारा बच्चों में न सिर्फ स्फूर्ति का संचार होगा, वरन् उनके बौद्धिक और क्रियात्मक क्षमता का भी विकास होगा। श्री सिंह ने विद्यार्थियों को कुछ यूं प्रेरित किया...

खोल दे पंख मेरे कहता है परिंदा,
अभी और उड़ान बाकी है।
जमीं नहीं है मंजिल मेरी,
अभी तो पूरा आसमान बाकी है।

कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का निर्माण होता है, इसलिए सभी को प्रतिदिन आगे होकर अपनी रुचि अनुसार खेलों को आवश्य खेलना चाहिए।


सत्र के प्रथम दिन छात्रों का स्वागत करते हुए विद्यालय के शिक्षक क्रमशः नीतू पांडेय, श्वेता श्रीवास्तव, पूजा पांडेय, विनीत दुबे, ज्योत्सना तिवारी, प्रतीक गुप्ता ने उनका उत्साहवर्धन किया। इस दौरान आकर्षक प्रार्थना सभा आयोजित की गई। 

यह भी पढ़ें'बालाश्रय' के मंच से सनबीम बलिया के छात्रों ने बढ़ाया साहित्य सृजन का पहला कदम

इस मौके पर विद्यालय प्रशासक संतोष कुमार चतुर्वेदी ने विद्यार्थियों को अनुशासित जीवन का महत्व समझाया। हेडमिस्ट्रेस श्रीमती ज्योत्सना तिवारी ने सभी विद्यार्थियों को वर्षभर जोश से भरे रहने की सलाह दी। इस अवसर पर विद्यार्थियों के उत्साहवर्धन तथा उनकी मंगल कामना हेतु समस्त शिक्षकों की उपस्थिति रही।

Post a Comment

0 Comments