To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : रेल संरक्षा आयुक्त ने परखी दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण कार्य की बारीकियां

वाराणसी। परिचालन की सुगमता एवं मूलभूत ढांचे में विस्तार के क्रम में पूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल पर वाराणसी-छपरा दोहरीकरण  परियोजना के अंतर्गत बलिया-सहतवार (18 किमी.) रेल खण्ड का दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण कार्य पूर्ण होने के उपरांत रेल संरक्षा आयुक्त उत्तर पूर्वी सर्किल मोहम्मद लतीफ खान ने शनिवार को विद्युतीकरण सहित नवनिर्मित दोहरी लाइन का निरीक्षण किया। इस अवसर पर रेल संरक्षा आयुक्त के साथ मुख्य प्रशासनिक अधिकारी/निर्माण राजीव कुमार, मंडल रेल प्रबंधक/वाराणसी रामाश्रय पाण्डेय समेत मुख्यालय गोरखपुर, वाराणसी मंडल एवं निर्माण संगठन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

रेल संरक्षा आयुक्त ने सबसे पहले अपनी स्पेशल ट्रेन से सहतवार स्टेशन पहुंचे और रेलवे स्टेशन पर संस्थापित नए उपकरणों का गहन  निरीक्षण किया इसके साथ ही  दोहरीकरण के मानक के अनुरूप यार्ड प्लान, इंटरलॉकिंग, विडीयू पैनल, ब्लाक यन्त्र, स्टेशन वर्किंग रूल, स्टेशन पावर पैनल, रिले रूम, इंटीग्रेटेड पावर सप्लाई सिस्टम, इमरजेंसी कैंसिलेशन वीडर काउंटर, प्लेटफार्म, पॉइंट क्रासिंग, सिगनल, बर्थिंग ट्रैक, ओवर हेड ट्रैक्शन, सिगनल ओवर लैप, फाउलिंग मार्क, सैंड हम्प, फेसिंग एवं ट्रेलिंग पॉइंट्स, समपार फाटक आदि की संरक्षा परखी। साथ ही सहतवार स्टेशन के निकट नवनिर्मित पावर सब स्टेशन का भी निरीक्षण किया। पावर डिस्ट्रीब्यूशन पर पावर सप्लाई वितरण प्रणाली तथा नियंत्रण  फीडर,अर्थिंग एवं  समुचित आइसोलेशन की व्यवस्था की जांच की।

रेल संरक्षा आयुक्त मोटर ट्रॉली से सहतवार-बलिया रेल खण्ड मध्य किमी सं 52/0-1 पर माइनर ब्रिज सं. 25 पर दोहरीकृत लाइन के लिए निर्मित ब्रिज की जांच की। किमी सं 53/7-8 इंटरलॉक समपार संख्या 11B का संरक्षा निरीक्षण किया और गेट मैन से विद्युतीकृत सह दोहरीकृत रेल खण्ड में अपनाये जाने वाले संरक्षा ज्ञान को परखा। इसके बाद सीआरएस आगे बढ़े और किमी सं 54 से 55/2 तक कर्वेचर संख्या 16 पर नई लाइन का इन्डेन्ट एवं ओवरहेड से मानक दूरी मापी। छाता आसचौरा हाल्ट का निरीक्षण करते हुए बांसडीह  रोड स्टेशन पहुंचे और सेक्शन के अंदर किमी सं 55/7-8 फेसिंग पॉइंट पर स्थित कांटा सं 206B का फेल सेफ पध्दति के अनुरूप गेज टेस्टिंग कर संरक्षा सुनिश्चित करने हेतु गहन परीक्षण किया।

इसके बाद उन्होंने किमी सं 55/8-9 पर सेफ्टी इंजीनियरिंग जॉइंट सं 31का निरीक्षण किया और फिर किमी सं 56/2-3 पर बांसडीह रोड स्टेशन का व्यापक निरीक्षण कर नई लाइन फिटिंग्स  पर ओवर हेड ट्रैक्शन लाइन की ऊँचाई , मानक के अनुरूप क्रॉसओवर लाइन विद्युत कर्षण लाइन फिटिंग्स, ओवर हेड ट्रैक्शन लाइन की नई लाइन से मानक ऊँचाई, किमी सं 58/1 पर समपार सं 04C, कर्वेचर एवं पुल-पुलियाओं का संरक्षा निरीक्षण किया एवं बाँसडीह रोड-बलिया ब्लाक सेक्शन के मध्य किमी संख्या 59 से 62 तक दलदली नींव पर बनी रेल संरचनाओं का गहन निरीक्षण किया।

रेल संरक्षा आयुक्त ने सहतवार-छाता आसचौरा हाल्ट-बांसडीह रोड स्टेशनों पर दोहरीकृत सह विधुतीकृत स्टैंडर्ड मानकों के अनुसार नई लाइन फिटिंग्स, संस्थापित नए सिगनलों टर्न आउट्स, बैलास्टिंग एवं पैकिंग, कर्वेचर पर क्लियरेंस तथा दोहरीकरण के अनुरूप समपार फाटकों बूम लॉक व हाइट गेजों के संस्थापन सुनिश्चित किया। फिर, वे बलिया स्टेशन पहुंचे रेल संरक्षा आयुक्त ने दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण के मुताबिक विकसित विभिन्न कार्यो का निरीक्षण किया। साथ ही स्टेशन वर्किंग रूल और मेंटेनेंस मैनुअल की जाँच की सभी मानक के अनुरूप पाया। निरीक्षण के अंत में रेल संरक्षा आयुक्त ने सीआरएस स्पेशल ट्रेन से बलिया से सहतवार तक नई लाइन 120 किलोमीटर प्रति घंटा पर स्पीड ट्रॉयल किया गया।

Post a Comment

0 Comments