To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल का बलिया में दिखा व्यापक असर, नहीं खुले ताले

बलिया। देश के विभिन्न श्रमिक संगठनों के आह्वान पर दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल के पहले दिन सोमवार को भारतीय जीवन बीमा निगम, बलिया में भी सम्पूर्ण हड़ताल रही। निगम के सबसे बड़े श्रमिक संगठन आल इंडिया इंश्योरेंस इम्प्लाइज एसोसिएशन ने इस राष्ट्रव्यापी हड़ताल को समर्थन दिया था, जिसके कारण निगम की बलिया शाखा का ताला नहीं खुला। 

बीमा श्रमिक संगठन के सचिव दिनेश सिंह ने बताया कि यह हड़ताल सरकार की जनविरोधी नीतियों के विरोध में आयोजित की गयी है। इसमें देश के लगभग 25 करोड़ श्रमिक, मजदूर, किसान, छात्र और कामगार भाग ले रहे हैं। सरकार जिस तरह से अंधाधुंध निजीकरण, सरकारी प्रतिष्ठानों का विनिवेश, श्रम कानूनों को कमजोर करना, बढ़ती महंगाई, बीमा-रक्षा-संचार और खुदरा व्यापार में विदेशी पूंजी की अनुमति दे रही है, उससे देश को बहुत नुकसान हो रहा है। हम सरकार से मांग करते हैं कि वह आम जनता की मुश्किलों को बढ़ाने वाले इन कदमों को वापस ले। 

मुख्य मांगें

-किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य मिले।न्यूनतम मजदूरी 21 हजार हो।
-रोजगार सृजित हो।
-श्रम कानूनों को मजबूत बनाया जाए।
-बीमा पर GST वापस लिया जाए।
-महिला सुरक्षा का कानून सख्ती से लागू हो।
-पुरानी पेंशन लागू हो। 
-जाति और धर्म के आधार पर विभेदकारी नीतियां वापस हो। 
-जीवन बीमा निगम में प्रस्तावित आईपीओ को वापस लिया जाय।

देश के विभिन्न श्रमिक संगठनों के आह्वान पर दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल के पहले दिन भारतीय जीवन बीमा निगम, बलिया पर सभा हुई। इसमें इंद्रदेव सिंह, सुजाता श्रीवास्तव, अजय तिवारी, ज्ञानती देवी, रामजी तिवारी, शिवप्रसाद शुक्ला, अजय श्रीवास्तव, दिनेश सिंह, महमूद आलम, कुबेरनाथ उपाध्याय, अजीत प्रसाद, देवी प्रसाद ओझा,आनंद मोहन, सुदामा अहीर, हरिशंकर उपाध्याय, अशोक गुप्ता, सुरेश चंद्र, अनामिका उपाध्याय, कुश कुमार गिरी, राजकुमार सिंह, संतोष यादव, शालिनी मिश्रा, अमृता गुप्ता, साक्षी जायसवाल, नवीन वर्मा, सूरज कुमार सिंह, आशुतोष, अमित केशरी, शिवम मिश्रा, अंकित ओझा, निमेष गौतम, अभय श्रीवास्तव, ओमप्रकाश श्रीवास्तव, शिवकुमार सिंह, विजय नारायन आदि ने भाग लिया। अध्यक्षता अजय तिवारी व संचालन दिनेश सिंह ने किया

Post a Comment

0 Comments