To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया के इस अस्पताल में जच्चा-बच्चा की मौत के बाद बवाल


बलिया। सिकंदरपुर कस्बा स्थित दीप लोक अस्पताल में जच्चा-बच्चा की मौत के बाद हंगामा खड़ा हो गया। डाक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए सैकड़ों लोगों ने खूब बवाल काटा। भीड़ की वजह से बिल्थरारोड-सिकंदरपुर मार्ग जाम हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामला को शांत कराने के साथ ही शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं, आरोपित डाक्टर अस्पताल छोड़कर फरार है। फिलहाल अस्पताल को बंद करा दिया गया है। वहीं, सुरक्षा के मद्देनजर वहां महिला सिपाहियों की ड्यूटी भी लगा दी गई है।


खेजुरी थाना क्षेत्र अंतर्गत कस्मापुर गांव की खुशबू गुप्ता (30) पत्नी चंदन को प्रसव पीड़ा हाेने पर उसकी सास विमला देवी आशा बहू जयंती देवी को सूचना दी। इसके बाद पहुंची आशा बहू से विमला ने कहा कि वह खुश्बू को बांसडीह ले जाकर प्रसव कराये, लेकिन आशा बहू खुश्बू को सिकंदरपुर के दीपलोक अस्पताल में ले जाकर भर्ती करा दी। अस्पताल संचालिका डा. रश्मि राय ने आपरेशन की बात कही। आरोप है कि दो मिनट बाद ही डाक्टर आपरेशन थिएटर से बाहर आकर आक्सीजन लगाने लगी। पूछने पर कोई उत्तर देने की बजाय एंबुलेंस बुलाने के लिए कहा। परिजन एंबुलेंस लेने गए, तब तक खुश्बू को बाहर निकाल दिया गया। 

यह भी पढ़ेंभीषण Road Accident, सिपाही समेत चार की मौत ; मृतकों में तीन बलिया के

यही नहीं, डाक्टर मरीज को मऊ ले जाने के लिए दबाव बनाने लगी। निजी वाहन से ले जाने की बात को खारिज करते हुए वह अपने एंबुलेंस से ही भेजा। रास्ते में आशा बहू उतर कर फरार हो गई। खुश्बू को मऊ ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने जच्चा-बच्चा को मृत घोषित कर दिया। वहां से लौटे परिजनों ने दीप लोक अस्पताल पर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक राजेश कुमार यादव व मालदा चौकी प्रभारी देवेंद्र नाथ दुबे ने उन्हें कार्रवाई का भरोसा दिया।  मुकदमा दर्ज किए जाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। 


रोहित सिंह मिथिलेश

Post a Comment

0 Comments