To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

गायत्री शक्ति पीठ बलिया : ऐसी छटा और कहां, जमीं पर सितारें


बलिया। महाबीर घाट स्थित गायत्री शक्ति पीठ के प्रागंण में दीपयज्ञ का कार्यक्रम संपन्न हुआ, जिसमें 24 हजार से अधिक दीपक एक साथ जलाये गए। यह अलौकिक दृश्य देख श्रद्धालु भाव-विभोर हो गये।

जिले के 17 विकास खंडों व नगर क्षेत्र के 24 वार्डों के हजारों गायत्री परिजनों ने हजारों की संख्या में सुबह आठ बजे से दो बजे तक यज्ञ किया। उसके बाद बच्चों ने विभिन्न प्रकार के सामाजिक नाटक के जरिए समाज में शिक्षा व संस्कारों की आकर्षित किया। नारी शिक्षा पर विशेष जोर दिया। शाम दीप यज्ञ के दौरान हजारों दीपक एक साथ प्रज्जवलित किया गया।यह अद्भुत व विहंगम दृश्य देख लोग आनंदित हो गये।

आंख रोगियों की निःशुल्क जांच

अखंड ज्योति आई हास्पिटल सहरसपाली के तत्वावधान में सोमवार व मंगलवार को निःशुल्क आंख का जांच किया गया। अस्पताल की ओर से ब्रजेश पान्डेय ने बताया कि गायत्री शक्तिपीठ पर जितने रोगियों का आंख बनने लायक है, उनका निःशुल्क आपरेशन होगा। जो रोगी फेको विधि से आपरेशन करायेंगे, उन्हें 10 प्रतिशत छूट दिया जायेगा। यज्ञ के दौरान राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के लोगों ने यज्ञ में आने वाले लोगों का चप्पल-जूता इकट्ठा करने का सराहनीय काम किया।


शान्तिकुञ्ज हरिद्वार से आये विद्वान आचार्यों ने की ज्ञान की वर्षा

महावीर घाट स्थित गायत्री शक्तिपीठ पर चल रहे 108 कुंडीय गायत्री महायज्ञ के दौरान मंगलवार को मंत्री आनंद स्वरूप शुक्ल सहित हजारों लोगों ने हवन-पूजन किया। शान्तिकुञ्ज हरिद्वार से आये विद्वान आचार्यों ने प्रवचन व संगीत के माध्यम से कहा कि श्रद्धालुओं में ज्ञान की वर्षा की। बताया कि मनुष्य के ऊपर गुरु कृपा होती है तो वह सामान्य से असामान्य जीवन के व्यक्तित्व वाला हो जाता है। अमृत, पारस, कल्पवृक्ष व कामधेनु को किसी ने नहीं देखा।लेकिन सच्चे मिलने पर दयानंद सरस्वती,स्वामी विवेकानंद व शिवाजी जैसे उत्थान संभव है।अंत में हरिद्वार से आये आचार्यों ने सबको आशीर्वाद दिया। शक्तिपीठ प्रमुख विजेंद्र नाथ अतिथियों व कार्यकर्ताओं के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करने के साथ ही प्रसाद देकर विदा किया।

Post a Comment

0 Comments