To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में एक विद्यालय ऐसा भी, बीएसए ने कराई जांच तो सामने आई रूह कंपाने वाली सच्चाई


बलिया। जिले में एक ऐसा स्कूल संचालित हो रहा है, जिसका भवन 'काल' जैसा है। इसका खुलासा आरटीआई से हुआ है। यह स्कूल शिक्षा क्षेत्र गड़वार के फेफना में शांति ज्ञानोदय शिक्षण संस्थान के नाम से है। जांच अधिकारियों ने कहा है कि तथाकथित प्रबन्धक व प्रधानाचार्य मान्यता से सम्बंधित दस्तावेज भी नहीं दिखा सकें। उनके द्वारा कभी कहा जा रहा था कि मान्यता मिल गई है तो कभी कहा जा रहा था कि मान्यता प्रक्रियागत है। वैसे भी यह विद्यालय मान्यता लायक नहीं है।

मिथिलेश कुमार सिंह ने शांति ज्ञानोदय शिक्षण संस्थान सिंहपुर चट्टी फेफना से सम्बंधित सूचना जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांगी थी। बीएसए शिवनारायण सिंह ने खंड शिक्षा अधिकारी नगर बन्शीधर श्रीवास्तव व गड़वार पंकज चतुर्वेदी से जांच कराने के बाद आवेदक को सूचना दी गई है। दोनों खंड शिक्षा अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि शांति ज्ञानोदय शिक्षण संस्थान फेफना का स्थलीय निरीक्षण 30 दिसम्बर 2021 को किया गया। इस दौरान विद्यालय का नाम-पहचान का कोई बोर्ड लगा नहीं मिला। उपस्थित बच्चों व शिक्षकों से पूछताछ में पता चला कि यही शान्ति ज्ञानोदय शिक्षण संस्थान है। विद्यालय/कोचिंग में एक से 11 तक की कक्षाएं टिन शेड में संचालित मिली। यहां कुल 10 कक्ष टिन शेडेड हैं, जिसकी दीवार जालीनमा व खम्भा की जोड़ाई कच्ची (मिट्टी-गारा) है। खम्भा व बीच में बांस की बल्ली के सहारे टिन शेड को किसी तरह टिकाया गया है। कोई दरवाजा व खिड़की नहीं है। पूरा टिन शेड का भवन बड़ी खराब स्थिति में है। कोई भी विद्यालयीय अभिलेख विद्यालय पर नहीं पाया गया। प्रथम दृष्टि में ऐसा प्रतीत हो रहा था कि उक्त भवन बरसात या कभी भी गिर सकता है, जिससे उसमें पढ़-पढ़ा रहे छात्र-छात्रा तथा शिक्षक का प्राण जोखिम में पड़ सकता है। 

Post a Comment

0 Comments