To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : स्कूल छोड़ने वाले बच्चों को खोज निकालेगी 'शारदा', ट्रेंड हुए शिक्षक


बलिया। ब्लॉक संसाधन केन्द्र हनुमानगंज पर शारदा (स्कूल हर दिन आये बच्चे) का तीन दिवसीय प्रशिक्षण खंड शिक्षा अधिकारी धर्मेंद्र कुमार के नेतृत्व में कोरोना गाइडलाइन का पूर्णतः पालन करते हुए सम्पन्न हुआ। खण्ड शिक्षा अधिकारी ने बताया कि प्रशिक्षण के पश्चात शारदा-स्कूल हर दिन आएं कार्यक्रम के तहत बच्चों को शत-प्रतिशत नामांकित कर शिक्षित करना है। स्कूल में कभी नामांकित न होने वाले या बीच सत्र में स्कूल छोड़ देने वाले बच्चों को अब 'शारदा' खोज निकालेगी। शासन ने 6 से 14 आयु वर्ग के बच्चों को चिह्नांकन और नामांकन के बाद उनकी उम्र के अनुसार कक्षा में समीपवर्ती स्कूलों में प्रवेश दिलाने के लिये यह कार्यक्रम प्रारम्भ किया है।

मास्टर ट्रेनर रवि कुमार यादव व अशोक कुमार सिंह ने प्रशिक्षुओं के प्राशिक्षण से जुड़ी तमाम जानकारियां दी। बताया कि शारदा कार्यक्रम के अंतर्गत 6 से 14 आयु वर्ग के सभी आउट ऑफ स्कूल बच्चे लक्ष्य समूह है। ऐसे बच्चे जिनका कभी नामांकन नहीं हुआ है अथवा पूर्व में नामांकन था, लेकिन किन्हीं कारण वश पढ़ाई बीच में छोड़नी पड़ी और 45 दिन तक नियमित स्कूल में उपस्थित नहीं रह सके, उनका चिह्नीकरण, पंजीकरण एवं नामांकन का कार्य शारदा कार्यक्रम में किया जाएगा। प्रशिक्षण में ARPS की भूमिका अहम रही। 

वहीं, प्रशिक्षण में शशिभान सिंह, अमृत सिंह, श्रीमती मंदाकिनि द्विवेदी, सरोज सिंह, अन्नू सिंह, विभा श्रीवास्तव, अली अख्तर, रमिता ठाकुर, उपासना राय, जुबैर अहमद आदि उपस्थित रहे। टेक्नीशियन के रूप में अमित चौरसिया, अजय यादव सहयोग के रूप में अरविंद कुमार पाठक (का.स.), सौरभ मिश्रा, शशि रंजन चौबे की भूमिका सराहनीय रही। प्रशिक्षण के अंतिम दिन खंड शिक्षा अधिकारी द्वारा सभी प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र दिया गया। उक्त प्रशिक्षण का समस्त जिम्मेदारी और व्यवस्थापक रामप्रकाश सिंह और मुमताज अहमद द्वारा की गई।


Post a Comment

0 Comments