To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया की शिक्षिका ने लिखी 'नवाचार' की नई इबारत, बच्चों में दिखा उत्साह और उमंग


बलिया। बेसिक शिक्षा की बेहतरी के लिए कुछ शिक्षक आये दिन 'नवाचार' का प्रयोग कर रहे है। अपनी पॉजिटिव सोच के जरिये भावी भविष्य को गढ़ रहे है, ताकि कल आज से अच्छा हों। शनिवार को अपनी नवीन सोच को शिक्षिका दिव्या पुरी ने बीएसए शिवनारायण सिंह व खंड शिक्षा अधिकारी वंशीधर श्रीवास्तव की अनुमति से नई उड़ान दी, जिससे बच्चे काफी उत्साहित हुए। बच्चों की मस्ती देखते ही बन रही थी। 


शिक्षा क्षेत्र चिलकहर के प्राथमिक विद्यालय पलटा पर तैनात प्रधानाध्यापिका दिव्या पुरी की सोच है कि स्कूली शिक्षा के साथ-साथ बच्चों को सामाजिक और सांस्कृतिक ज्ञान भी मिले, ताकि उनका चातुर्दिक विकास हो सकें। प्रधानाध्यापिका दिव्या पुरी ने बताया कि इस दिशा में वह काम भी करती है। उनके मन में आया कि बच्चों को शैक्षिक भ्रमण कराया जाय, फिर क्या था। बच्चों और उनके अभिभावकों से बात की। कक्षा तीन, चार व पांच के 20 बच्चों को शैक्षिक भ्रमण पर ले जाने की योजना बनी। खंड शिक्षा अधिकारी व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से अनुमति मिली। इसमें स्टेनो संजय कुंवर जी ने काफी सहयोग किया। शनिवार को 20 बच्चों को शैक्षिक भ्रमण के तहत पकड़ी गुफा आश्रम (सदाफल बाबा की समाधि) एवं खाकी बाबा की समाधि खनवर ले जाया गया, जहां बच्चों को बहुत सी जानकारी प्राप्त हुई। 


बच्चे बहुत उत्साहित थे। प्रधानाध्यापिका दिव्या पुरी ने बताया कि जब हमारी टीम पकड़ी गुफा आश्रम पहुंची तो गुफा बंद थी। लेकिन वहां मैनेजर से बात कर बताया गया कि ये बच्चे प्राथमिक विद्यालय के है तो उन्होंने काफी सम्मान दिया। बच्चों को गुफा घुमाया और तमाम जानकारी दी। प्रधानाध्यापिका बोली, बच्चों को शैक्षिक भ्रमण कराने से यह एहसास हुआ कि इस प्रकार के शैक्षणिक भ्रमण से बच्चों को मानसिक और बौद्धिक क्षमता का विकास निश्चित होगा। बोली, इस शैक्षणिक भ्रमण में सहायक अध्यापक विनय कुमार कुशवाहा व शिक्षामित्र अशोक कुमार राम का सहयोग सराहनीय रहा। 

Post a Comment

0 Comments