To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बालिया : शिक्षक पुत्र ने लिखा मार्मिक संदेश 'आज के ही दिन पापा को मिला था नियुक्ति पत्र, एक वर्ष पूरा हुआ, लेकिन...' I miss you papa


'बहुत दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि आज के ही दिन 05/12/2020 को पापा को नियुक्ति पत्र मिला था। एक वर्ष पूरा हुआ, जो हमारे साथ नहीं है। I miss you papa'
 
बलिया। यह संदेश बलिया में नियुक्त शिक्षक उदयनारायण राम से जुड़ा है। मूल रूप से गाजीपुर जनपद के जमानिया तहसील क्षेत्र अंतर्गत कसेरा पोखरा गांव निवासी उदयनारायण राम की नियुक्ति बतौर सहायक अध्यापक बलिया में हुई थी। शिक्षा क्षेत्र मुरलीछपरा के प्राथमिक विद्यालय सावनछपरा में पोस्टेड कर्मठ व उर्जावान शिक्षक उदयनारायण ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ड्यूटी की। इसके साथ ही कोरोना महामारी के दौरान बीमारी की जद में आने की वजह से 28 अप्रैल 2020 को दुनिया छोड़ गये। लेकिन इनका नाम कोरोना से असमय काल के गाल में समाने वाले शिक्षक-कर्मचारियों की सूची में नहीं आया। यही नहीं, सरकार के निर्देश के बाद भी अब तक मृतक आश्रित कोटे से उदयनारायण के परिवार के किसी सदस्य को नौकरी भी नहीं मिल सकी। दो पुत्र व दो पुत्री के साथ उदयनारायण की पत्नी किसी तरह जीवन यापन कर रही है। विभागीय लाभ व बकाया देयकों का भुगतान अब तक न मिलने से परिवार आर्थिक रूप से परेशान है। इनकी सुधि लेने वाला कोई नहीं है। 

बोले, प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष
इस सम्बंध में प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह ने सीधे तौर पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को जिम्मेदार ठहराया है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि शासन का स्पष्ट आदेश होने के बाद भी कोरोना काल में दिवंगत शिक्षकों के अधिकतर आश्रितों को अब तक नौकरी न मिलना, विभाग की बड़ी लापरवाही का द्योतक है। बताया कि सभी मृतक शिक्षकों के आश्रित फाइल भी जमा कर चुके है, पर उनकी फाइलों को बेवजह लटका कर रखा गया है। इसको लेकर प्राशिसं ने मांग पत्र भी सौंपा, प्रत्यावेदन भी दे चुका है। कहा कि मृतक आश्रितों को तत्काल नियुक्ति पत्र व सभी देयकों का भुगतान नहीं किया गया तो संघ चुप नहीं बैठेगा। 




Post a Comment

0 Comments