To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : एयरफोर्स जवान के घर पहुंचे एएसपी ने पोछे पीड़ित परिवार के आंसू, CO प्रीति त्रिपाठी ने दिया ऐसा आश्वासन


बांसडीह, बलिया। करंट की जद में आकर जान गंवाने वाले एयरफोर्स जवान विवेक गुप्ता (19) के घर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक विजय त्रिपाठी ने पीड़ित परिवार से मिलकर न सिर्फ शोक संवेदना व्यक्त की, बल्कि हर सम्भव मदद का भरोसा भी दिलाया। उन्होंने विभागीय एव प्रशानिक मदद के लि उच्चाधिकारियों को पत्र लिखकर मदद का आश्वासन दिया है। 


क्षेत्राधिकारी प्रीति त्रिपाठी ने भी परिवार को सांत्वना दिया। विवेक की बहन श्रेया व ज्योति से कहा कि किसी भी जरूरत के वक्त मुझे याद कीजियेगा, मैं आपकी बड़ी बहन जैसी हूं। कोतवाल श्रीधर पाण्डेय ने भी परिवार को सांत्वना दिया। इस मौके पर डॉ कुमार विनोद, हरिकृष्ण वर्मा, संतोष गुप्ता, धीरेन्द्र बहादुर सिंह, शम्भु नाथ सोनी, भाजपा नेत्री रंजना सिंह, व्यापार मण्डल अध्यक्ष विजय कुमार गुल्लर इत्यादि लोग उपस्थित रहे।


विवेक के कंधे पर थी पूरे परिवार की जिम्मेदारी
विवेक का परिवार काफी गरीब है। परिवार का एकमात्र कमाऊ सदस्य विवेक के कंधों पर पूरे परिवार की जिम्मेदारी थी। पिता विनोद गुप्ता भयावह बीमारी से पीड़ित है। उनका इलाज विवेक के ही बलबूते कमांड हॉस्पिटल दिल्ली में चल रहा था। दो बहनें कक्षा ग्यारह में अध्ययनरत है। मां विनीता गुप्ता की हालत काफी खराब है। विवेक के जाने के बाद परिवार का अब कोई सहारा या देखभाल करने वाला नहीं है।


बहने बोली, हम भी बनेंगे सैनिक
विवेक की मां विनीता देवी का रोते रोते बुरा हाल है। उनको अब भी विश्वास नहीं है कि उनके लाडले के साथ कुछ हुआ। वह रोते-रोते कह रही थी कि बड़ी गरीबी में कैंडल एवं लालटेन की रोशनी में पढ़ाया था। वह बहुत ही मेधावी था। अपने दोनों बहनों के साथ वह रात भर पढ़ता था। उसने मुझे वादा किया था आप लोगों को उस ऊंचाई पर ले जाऊंगा, जो आप लोगों ने मेरे लिए सपना देखा है। मैं अपनी मातृभूमि की सेवा करने के लिए सेना का उच्चधिकारी बन के दिखाऊंगा, लेकिन अफसोस अब पूरा नहीं हो पायेगा। वहीं, मां को ढांढस बंधाते हुए विवेक की दोनों बहनें श्रेया और ज्योति ने कहा कि देश सेवा के लिए हम भी सेना में जायेंगे।

विजय कुमार गुप्ता

Post a Comment

0 Comments