To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

अवैध अतिक्रमण से कराह रहा बलिया का यह परिषदीय स्कूल, शिकायत के बाद भी एक्शन नहीं


बैरिया, बलिया। शिक्षा क्षेत्र मुरली छपरा अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय वाजिदपुर नंबर एक के परिसर पर अवैध अतिक्रमण मुख्यमंत्री के पोर्टल पर शिकायत के बावजूद खत्म नहीं हो पाया है। दबंग अभी भी विद्यालय परिसर पर अवैध कब्जा जमाए हुए हैं। छात्र और शिक्षक परेशान हैं। तीन-तीन बार संपूर्ण समाधान दिवस पर ग्रामीणों की शिकायत भी काम ना आई। बच्चे परेशान, शिक्षक हैरान है। आखिर कैसे अवैध अतिक्रमण हटाया जाय यह सोच सोच कर ग्रामीण भी परेशान है।






प्राथमिक विद्यालय बाजिदपुर नंबर एक के परिसर में खोप, चरन, नाद बनाकर एक जाति विशेष के लोगों ने अवैध कब्जा कर लिया है। ग्रामीणों ने कई बार आग्रह किया। शिक्षकों ने भी निवेदन किया, किंतु अवैध अतिक्रमण दबंगों ने नहीं हटाया। एक महीने से तहसील व थाना के चक्कर लगाने के बाद इसकी शिकायत मुख्यमंत्री के पोर्टल पर की गई। बावजूद इसके कोई कार्रवाई नहीं हुई।इस संदर्भ में रामपुर निवासी बलराम सिंह का कहना है कि अवैध अतिक्रमण के चलते विद्यालय में पढ़ाई का वातावरण समाप्त हो चुका है। सर्व शिक्षा अभियान के पैसे का अपव्यय हो रहा है। इसे तत्काल हटवाना चाहिए। रामपुर निवासी नीलेश सिंह का कहना है की अवैध अतिक्रमण से विद्यालय परिसर में घुटने भर कीचड़ व जलजमाव हो गया है।खंड विकास अधिकारी भी इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। उसी गांव के निवासी मुन्ना सिंह ने उप जिलाधिकारी बैरिया से तत्काल अवैध अतिक्रमण हटवाने का आग्रह करते हुए संबंधितो के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। रामपुर निवासी अशोक सिंह व उमेश पांडे ने बताया कि शायद  मुरली छपरा शिक्षा क्षेत्र में यह पहली घटना है। दबंगों ने स्कूल परिसर पर कब्जा कर लिया हो, और अधिकारी मूकदर्शक बने हो। इसे तुरंत हटाना चाहिए।उसी गांव के  अशोक पांडे का कहना है कि अगर तत्काल अवैध अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ भी मैं मुख्यमंत्री के दरबार में शिकायत पहुंचाऊंगा और तहसील पर अब आन्दोलन होगा। इस संदर्भ में उप जिलाधिकारी बैरिया अभय कुमार सिंह ने बताया कि मौसम खराब होने के कारण अतिक्रमण नहीं हटाया गया था। तत्काल इस दिशा में कार्रवाई की जाएगी।


शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments