To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया के इस स्कूल में दिखा नवरात्रि का अद्भूत नजारा, शिक्षकों ने पखारें छात्राओं के पांव और...


बलिया। आज देश में मिशन शक्ति और बेटी बचाओ-बेटी पढा़ओ जैसे नारे प्रचारित और प्रसारित किए जा रहे हैं। ये यूं ही नहीं हो रहा है। कुछ ना कुछ कारण तो अवश्य होगा और कारण है समाज के कुछ गद्दार, जिनका बेटियों के प्रति नजरिया ही कुछ नकारात्मक है। वैसी नकारात्मकता को कुछ हद तक कम करने का प्रयास किया है गड़वार ब्लाॅक में स्थित एक परिषदीय विद्यालय। नाम है पूर्व माध्यमिक विद्यालय शेरवां कलां। दुर्गाष्टमी को विद्यालय में भव्य दुर्गा पूजा और कन्या पूजन का कार्यक्रम रखा गया।


विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक शंकर कुमार रावत ने विद्यालय की बालिका निधि का पैर पखारकर बच्चों को कन्या पूजन से अवगत कराया। सहायक अध्यापक अजय कुमार ने भी पैर पखारा, उसके बाद बालकों ने भी बढ़ चढकर कन्या पूजन में प्रतिभाग किया। आजीवन नारी का सम्मान करने का संकल्प लिया। उसके बाद दुर्गा पूजा की जबरदस्त झांकी प्रस्तुत की गई।


प्रधानाध्यापक शंकर रावत के अनुसार, "विद्यालय मात्र वो जगह नहीं है, जहां से होकर मात्र पढा़ई लिखाई ही समाज की ओर गुजरती है। अपितु विद्यालय तो वो पावन जगह है, जहां से होकर सभ्यता, संस्कृति, आचार-व्यवहार और नैतिकता समाज में पहुंचती है। मेरा यही प्रयास रहता है कि हमारे विद्यालय के बच्चे अपनी सभ्यता और संस्कृति को जानें और उससे जुडे़ रहें।' 

इस अवसर पर निधि, सिपु, लाडली, पूजा, आसी, अर्चिता,गुंजन, सलोनी, अक्सरा और अमित कुमार कन्या पूजन, जबकि झांकी में जिया दुर्गा जी, आयुष महिषासुर और अनूप शुक्ला माता की सवारी शेर बना था। 


झांकी में अन्य बालिकायें खुशी, अंकिता, नेहा, नन्दिनी, काजल, रंजू, प्रीति, प्रियांशु, सुप्रिया इत्यादि भी मां दुर्गा का स्वरूप धारण की थी, जबकि  सूरज कुमार, कुमारी अर्चना, लक्ष्मी यादव और आयुषी गुप्ता ने रूपसज्जा का कार्यभार सम्भाला। इस दौरान अनुचर रविशंकर प्रसाद और रसोईया सोनिया देवी और मीना देवी का भी सहयोग रहा। 

Post a Comment

0 Comments