To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

खतरे में लोकतांत्रिक व्यवस्था, मौलिक अधिकारों को किया जा रहा अतिक्रमित : सपा


बलिया। समाजवादी लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप तिवारी ने प्रदेश सरकार पर जमकर तंज कसा। कहा कि समाजवादी पार्टी हम जो कहती है, वह करती है। यह समाजवादी पार्टी की विश्वसनीयता है। जब 2012 में अखिलेश यादव के नेतृत्व में सरकार बनी तो पार्टी द्वारा चुनाव घोषणा पत्र में किये गए सभी वादों को पूरा किया गया। लेकिन अफसोस, वर्तमान सत्ताधारी लोग राजनीति में झूठ की तिजारत और जुमलों की खेती कर रहे है।

पत्रकारों से मुखातिब, समाजवादी लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप तिवारी ने कहा कि जब हम विकास की बात करते है। रोजगार की बात करते है। महंगाई की बात करते है। किसान की बात करते है। युवा की बात करते है। महिला सुरक्षा की बात करते है तो झूठ और जुमले वाले लोग समाज को बांटने वाली बात कहते है। लेकिन इस बार प्रदेश की जनता इन्हें जान और पहचान गई है, इनका सफाया होना निश्चित है। उन्होंने कहा कि सरकारी सम्पतियों को कौड़ी के मोल बेचने वाले लोग पूंजीपतियों के हाथों की कठपुतली है। अब इनका मन इतना बढ़ गया कि हमारे आस्था से जुड़े गोवर्धन पर्वत को भी बेचने का मनसौदा तैयार कर रहे है, जो निंदनीय है। कहा कि देश वर्तमान में अघोषित आपात काल से गुजर रहा है। लोकतांत्रिक व्यवस्था खतरे में है। हमारे मौलिक अधिकारों को अतिक्रमित किया जा रहा है। ऐसे में समाजवादियों की जिम्मेदारी बढ़ जाती है कि वह इस विघटनकारी ताकतों व अर्थव्यवस्था को चौपट करने वाली ताकतों तथा पूंजीपतियों की पोषक सरकार को उखाड़ फेकें।

'आओ चले बूथ करे चौपाल और बूथ को जिताये सपा सरकार बनाये' यात्रा पर निकले लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप तिवारी पूर्वांचल के दर्जनो जनपदों में चौपाल करने के उपरांत चाय पर चर्चा के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार पर जम कर वरसे। कहा कि इस सरकार में भ्रष्टाचार को सिंचित कर फैलाया जा रहा है। गाय और भगवान का नाम बेचने वाले लोग गाय और भगवान के श्राप से ही खत्म होने जा रहे है और समाजवादी लोग आ रहे है। समाजवादी पार्टी के जिला प्रवक्ता सुशील पाण्डेय 'कान्हजी' ने सभी अतिथियों का स्वागत किया। प्रेस वार्ता में जिलाध्यक्ष राजमंगल यादव, कामेश्वर सिंह, अजीत मिश्र, अपूर्व चौबे, विजय तिवारी, रंजीत चौधरी, आशुतोष ओझा, चिराग उपाध्याय, निसु श्रीवास्तव आदि उपस्थिय रहे।

Post a Comment

0 Comments