To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में मंत्री उपेंद्र तिवारी ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां, इस विधान सभा के लिए बड़ा ऐलान


बलिया। राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी ने राज्य सरकार की साढ़े चार वर्ष की उपलब्धियों को गिनाया। फेफना विधानसभा क्षेत्र के खासकर सोहांव व गड़वार व हनुमानगंज ब्लॉक में विभिन्न योजनाओं के जरिए लोगों के जीवन स्तर में आए बदलाव व खुशहाली की जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि केंद्र में मोदी सरकार बनने के बाद तीन माह, छह माह व वर्षवार रिपोर्ट कार्ड देने की व्यवस्था शुरू हुई। राज्य सरकार ने भी हर वर्ष अपना रिपोर्ट कार्ड दिया। सड़क, शिक्षा, सुरक्षा, गरीबों को आवास, शौचालय, गरीबों को पारदर्शिता के साथ राशन वितरण, निर्बाध बिजली आपूर्ति सहित हर क्षेत्र में योगी सरकार ने बेहतर कार्य करके लोगों का विश्वास जीता है। उज्ज्वला योजना के जरिए निःशुल्क गैस कनेक्शन, निःशुल्क बिजली कनेक्शन, बेहतर आपूर्ति व जर्जर तार बदलने का काम हुआ। आने वाले समय में गांवों में भी 24 घण्टे बिजली देने की योजना है। किसान सम्मान निधि के जरिए किसानों को राहत दी। स्वास्थ्य सुविधाओं को देखा जाए तो बलिया ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर बन गया है। योगी सरकार में यहां वेंटिलेटर चालू हुआ। अस्पतालों पर व्यवस्था बेहतर हुई। आने वाले समय में फेफना विधानसभा क्षेत्र की तीनों सीएचसी अत्याधुनिक स्वास्थ्य सुविधाओं से लैस होगी। आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को विभिन्न गम्भीर बीमारियों में सरकार की ओर से मिलने वाले मदद प्रक्रिया की जानकारी दी। साथ ही गरीब जनता के निःशुल्क इलाज के रूप में की गई मदद का व्योरा भी दिया। 
 
सड़क व पुल के जरिए सुगम हुआ आवागमन

मंत्री ने कहा कि विस फेफना में तमाम ऐसे कार्य हुए, जो पहले हुए ही नहीं थे। जर्जर सड़कों को बेहतर कराकर व पुल बनवाकर सुगम आवागमन सुनिश्चित किया गया। सागरपाली से बैरिया तक बंधे वाली सड़क का उच्चीकरण कार्य स्वीकृत कराया। बहुत जल्द यह कार्य हो जाएगा। नरहीं से कामेश्वर धाम (कारो) तक 12 करोड़ की लागत से चौड़ीकरण कार्य हो रहा है, जिसका लोकार्पण जल्द होगा। बड़का खेत से कथरिया तक 24 करोड़ की लागत से सड़क का उच्चीकरण व चौड़ीकरण कार्य स्वीकृत है, जिसका निर्माण जल्द शुरू होगा। चितबड़ागांव-कोपवां को जोड़ने वाले पुल का निर्माण युद्धस्तर पर चल रहा है। कोट मझरिया-रामपुर चिट को जोड़ने वाला पुल भी बनने वाला है। फेफना की तमाम सड़कें बन रही है। इसके बाद भी कोई सड़क बच जाएगी तो वह नवम्बर महीने में डिप्टी सीएम केशव मौर्य के कार्यक्रम में घोषणा पश्चात निर्माण की प्रक्रिया शुरू होगी।

बाढ़-कटान से राहत दिलाने को पारदर्शी ढंग से हुआ कार्य

बाढ़ के दिनों में कटान से निजात दिलाने को सरकार कटिबद्ध है। इसके लिए योगी सरकार में जो धन आया उससे पारदर्शी तरीके से कार्य हुआ। राहत व बचाव कार्य युद्धस्तर पर हुआ। उन्होंने कहा कि योगी सरकार में पारदर्शी तरीके से प्रक्रिया अपनाते हुए नौकरियां दी गई। कहीं कोई शिकायत का मौका ही नहीं दिया गया।

विस फेफना में 100 से अधिक ओपन जिम बनेगा

मंत्री श्री तिवारी ने कहा कि फेफना क्षेत्र में लगभग सौ के आसपास ओपन जिम बनाने की सोच है। खेल मंत्री होने के नाते यह कार्य मेरी प्राथमिकता पर है। अब मेरे विधानसभा क्षेत्र में नौजवान बांस की बल्ली व जुगाड़ के सहारे नहीं, बल्कि ओपन जिम के आधुनिक संसाधनों से अपनी फिटनेस कायम रखेंगे। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में 41 मिनी स्टेडियम बनाने का काम हो रहा है। प्रदेश में दो हजार से ऊपर खेल मैदान बनकर तैयार है। हर ब्लॉक में कम से कम 10 खेल मैदान हो, यह हमारा प्रयास है।

शुद्ध पेयजल की सप्लाई पर सरकार कर रही काम

राज्यमंत्री श्री तिवारी ने कहा कि आर्सेनिक प्रभावित क्षेत्रों में शुद्ध पेयजल की आपूर्ति पर भी सरकार काम कर रही है। जिले में पांच सौ करोड़ के आसपास के चार बड़े प्रोजेक्ट बने है, जिसके माध्यम से गंगा व सरयू नदी जल को रिफाइन कर घर-घर शुद्ध जल की सप्लाई देने की योजना है। 

बुढ़ापे में सहारा बनेगी 'वयो-श्री योजना'
 
मंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय वयोश्री योजना (वयोवृद्ध योजना) पूर्वांचल के लिए अनोखी योजना है। बुढ़ापे में जिंदगी काटने के लिए जिस सामान (कान की मशीन, चश्मा, दांत, छड़ी, वाकर, व्हील चेयर, कम्बोर्ड शौचालय सहित कुल 28 आइटम) की जरूरत होगी, इस योजना के तहत सरकार निःशुल्क देगी। नवम्बर माह में फेफना के विभिन्न इलाकों में कैंप लगाकर चिन्हांकन किया जाएगा।

आवास, शौचालय सहित कई कार्यों का दिया तुलनात्मक व्यौरा

मंत्री ने कहा कि अभियान चलाकर आवास, शौचालय व विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिया गया। जो काम 68 साल में नहीं हुआ, साढ़े चार वर्षों में करके दिखाया। योगी सरकार बनने से पहले तक कुल मिलाकर 1365 लाभार्थियों को आवास मिला था। वहीं, साढ़े चार साल में सिर्फ फेफना विधानसभा के 5990 गरीबों को पीएम आवास योजना का लाभ मिला। मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत 224 आवास बने। स्वयं सहायता समूहों का गठन बढ़ाकर हजारों परिवार, खासकर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास हुआ। प्रेसवार्ता के दौरान एसडीएम सदर जुनैद अहमद, डीडीओ राजित राम मिश्र मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments