To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया पुलिस को मिली सफलता, ऐसे खुला विवेक की मौत का राज


बलिया। भीमपुरा पुलिस व स्वाट की संयुक्त टीम ने कसेसर बस्ती निवासी विवेक कुमार पुत्र अरविन्द राम की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत का राज 24 घण्टे में खोल दिया है। विवेक की हत्या नहीं हुई थी। वह रस्सी का फंदा बनाकर मौत को गले लगा लिया था। 

बता दें कि कसेसर हरिजन बस्ती निवासी विवेक कुमार का शव नहर किनारे झाड़ी में बुधवार को मिला था। शव के पास रस्सी भी पड़ी थी। भीमपुरा पुलिस ने धारा 174 सीआरपीसी पंजीकृत किया था। पुलिस अधीक्षक ने घटना का अनावरण करने के लिए क्षेत्राधिकारी रसड़ा, प्रभारी निरीक्षक  भीमपुरा व स्वाट टीम को लगाया था। टीमों ने घटना स्थल पर पहुंचकर मृतक के परिजनों से पूछताछ किया।

परिजनों ने पुलिस को बताया कि 17 अगस्त की शाम को विवेक 06 हजार रूपये की मांग कर रहा था। पिता ने सुबह में पैसा देने की बात कही। इससे नाराज होकर विवेक कुमार घर से बाहर चला गया। रात 09 बजे तक घर वापस नहीं आया तो भाई आकाश व चाचा तरूण कुमार गांव के आस पास तलाश किये। इस बीच, विवेक का शव रात करीब 10.30 बजे कसेसर नहर के पास बागीचा में आम के पेड़ पर रस्सी से लटका हुआ मिला।

इसके पश्चात विवेक के भाई आकाश ने अपने पिता को सूचना दिया तो पिता व मां दोनों मौके पर पहुंचे। भावना वस तत्काल उन लोगों ने शव को पेड़ से रस्सी खोल कर उतारा। इसी बीच किसी ने उनको बताया कि बिना पुलिस को सूचना दिये शव को उतार दिये हो, तुम लोग फंस जाओगे। डर व अज्ञानता के कारण वहीं नहर की पटरी के किनारे झाड़ी में शव व रस्सी को रख दिया। मृतक के मोबाइल को मौके पर पानी में फेंक दिया। सुबह पुलिस को घटना के सम्बन्ध में सूचना दिया। मौत का सही कारण जानने के लिए पोस्टमार्टम के लिए प्रार्थना पत्र दिया। आकाश और तरूण ने पुलिस की मौजूदगी में अपनी गलती की मांफी मांगते हुए नहर के अन्दर पानी से विवेक का मोबाइल निकालकर दिया। बताया कि रस्सी भी घर की ही है। 

Post a Comment

0 Comments