To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : राजस्व कर्मियों ने तिरपाल के लिए मांगी विधायकजी की पर्ची, फिर...


बैरिया, बलिया। तिरपाल के लिए तहसील पहुंची दर्जनों बाढ़ पीड़ित महिलाओं को राजस्व कर्मियों ने यह कहकर वापस कर दिया कि जाओं विधायकजी के दरवाजे से कूपन लाओ, तभी तिरपाल मिलेगा।महिलाओं ने कहा कि हम लोगों ने विधायकजी का घर नहीं देखा है। कहा से कूपन लाये। आधार कार्ड हम लोग लेकर आये है। राजस्व कर्मियों ने जबाब दिया कि आधार कार्ड से नहीं मिलेगा। विधायकजी का कूपन अनिवार्य है। इस पर महिलाएं रोने गिड़गिड़ाने लगी। हाथ जोड़कर अनुनय विनय करने लगी कि तिरपाल हम लोगों को दे दीजिए। हम लोग बाढ़ में डूबे हुए है, किंतु राजस्व कर्मियों ने उनकी एक न सुनी। हालांकि, नायब तहसीलदार ने हस्तक्षेप कर बकुलहा नई बस्ती की महिलाओं को तिरपाल उपलब्ध करा दिया।

बकुलहा नई बस्ती निवासी बाढ़ पीड़ित कमला देवी, शिवरतिया देवी, पंकज देवी, गीता देवी, रतिया देवी, सरिता देवी, चन्देश्वरी देवी आदि ने बताया कि हमारे गांव में करीब 400 से अधिक परिवार सरयू नदी की बाढ़ से तबाह हुए है। अब तक 25 बाढ़ पीड़ितों को ही तिरपाल मिला है। पता चला कि तहसील में तिरपाल वितरण हो रहा है तो हम लोग बड़ी उम्मीद के साथ आधार कार्ड लेकर तहसील आ गए। लेकिन तहसील के कर्मचारी बता रहे है कि हम उसी को तिरपाल दे रहे है, जिसके पास विधायकजी की पर्ची है। तहसील में मौजूद एक पत्रकार को अपनी पूरी व्यथा बाढ़ पीड़ित महिलाओं ने बताया। पत्रकार ने एसडीएम व एडीएम से फोन करके सम्पर्क करने का प्रयास किया, किन्तु सफलता नहीं मिली। बाद में नायब तहसीलदार रजत कुमार सिंह से मोबाइल से सम्पर्क हुआ तो उन्होंने बताया कि विधायकजी के कूपन की कोई बात नही है। महिलाएं निश्चित रूप से जरूरतमंद है, इन्हें तिरपाल दिया जाएगा। 

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments