To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : 'काबुल' से घर लौटा बाबुल, मां बोली- हमारे लिए भगवान से कम नहीं है मोदी जी


बांसडीह, बलिया। अफगानिस्तान से स्वदेश लौटे राजेश पाण्डेय काबुल के महौल को अब भी नहीं भूल पा रहे हैं। आपबीती बयान करते हुए बांसडीह कोतवाली क्षेत्र के छितरौली गांव निवासी राजेश पाण्डेय ने बताया कि भारत से 22 फ़रवरी 2021 को ही सरिया वाले डाई टर्नर के पद पर कार्य करने के लिये काबुल गया था।काबुल एयरपोर्ट से मात्र आठ किलोमीटर की दूरी पर नीली कम्पनी में मैं काम कर रहा था।


तालिबान के कब्जे के बाद हम सभी बदहवास होकर काबुल एयरपोर्ट के नार्थ गेट नम्बर 6 से 100 मीटर की दूरी पर ही थे। तालिबानियों ने हम सभी 150 लोगों को एक साथ अगवा कर लिया। सुनसान स्थान पर सबको बैठा कर सबका पासपोर्ट आदि चेक किये। उसके बाद उन लोगों ने सबको खाना खाने के लिए पूछा, लेकिन डर के मारे किसी में खाने की हिम्मत नहीं हुई। सब कुछ जांचने परखने के बाद हम सभी को पांच घण्टे बाद काबुल एयरपोर्ट पर छोड़ दिया गया। हम लोग एयरपोर्ट पहुंचे तो हमारी जान में जान आई, लेकिन मन में भय उसी तरह बना रहा,  जब तक भारत की धरती पर हमारा जहाज उतर नहीं गया।  


श्री पाण्डेय ने बताया कि काबुल एयरपोर्ट व आसपास के इलाके में बमबारी व गोलियों से बराबर थर्रा रहा हैं। वहां के माहौल की चर्चा करते हुए बताया कि वहां की जो हालात हमारी आंखों ने देखा हैं, उसे जुबां से बयां कर पाना काफी मुश्किल हैं। ईश्वर एवं प्रधानमंत्री मोदी जी की कृपा से मैं अपने वतन बाल बच्चो के बीच आज सही सलामत हूं। जीवन में इतना डर कभी नहीं लगा।राजेश पाण्डेय ने बताया कि देखने में तो वह भी इंसानों की तरह ही दिखते हैं, लेकिन किसी राक्षस से कम नहीं है। कब कहा गोली- बम चला देंगे, उनके दिमाग का कोई ठिकाना नही हैं। श्री पांडेय की माता श्रीमती माया पांडेय, पत्नी श्रीमती ममता पांडेय, बेटा अनुराग पांडेय (11 वर्ष) व दूसरा बेटा नीलेश पांडेय (10 वर्ष) काफी खुश है। मां व पत्नी ने कहा कि हमारे लिए भगवान से कम नहीं मोदी, जिनके बदौलत हमारी घर की धड़कन, जान व खुशी आज सही सलामत हम लोगों के बीच हैं। हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि वहां फंसे सभी मां के बच्चे सही सलामत अपने घर वापस आ जाएं।

विजय कुमार गुप्ता

Post a Comment

0 Comments