To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में मिशन शक्ति : शैक्षणिक निदेशक की अध्यक्षता में 'चुप्पी तोड़ो-खुलकर बोलो' कार्यक्रम


बलिया। मिशन शक्ति के तृतीय चरण के अनतर्गत शनिवार को जननायक चन्द्रशेखर विश्वविद्यालय बलिया के शैक्षणिक निदेशक की अध्यक्षता में 'चुप्पी तोड़ो-खुलकर बोलो' विषय पर गुलाब देवी महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि जिला प्रोबेशन अधिकारी मो. मुमताज व अन्य ने कार्यक्रम की शुरूआत मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण तथा दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। मुख्य अतिथि ने शासन द्वारा महिला सशक्तिकरण हेतु चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी दी। कहा कि समानता एवं समन्वय के सिद्धांत पर पुरूष- स्त्री दोनों को एक साथ मिलकर आगे बढ़ना चाहिए, तभी वास्तव में महिला सशक्तिकरण के उद्देश्यों की प्राप्ति की जा सकती है। परिवार एवं समाज को भी सकारात्मक सोच अपनानी होगी। मुख्य अतिथि के साथ महिला कल्याण विभाग की महिला टीम भी कार्यक्रम में सहभागिता निभाई एवं अपने विचारों को व्यक्त किया।


अध्यक्षीय उद्बोधन में शैक्षणिक निदेशक डा. गणेश कुमार पाठक ने कहा कि साइबर सुरक्षा, लैंगिक असमानत, घरेलू हिंसा, कन्या भ्रूण हत्या, बाल विवाह, दहेज प्रथा एवं शारीरिक तथा मानसिक उत्पीड़न आदि के प्रति आज के बेटियों को अपनी चुप्पी तोड़कर मुखर होना पड़ेगा। सबल होकर कुरीतियों का विरोध करना होगा। उन्हें अपने प्रति किए जा रहे प्रत्येक प्रकार के अन्याय, अनीति एवं शोषण के खिलाफ न केवल जोरदार आवाज उठानी होगी, बल्कि प्रत्येक तरह से उसका प्रतिकार करना होगा। जिसके बल पर वो अपनी सुरक्षा, सम्मान एवं स्वालम्बन हेतु स्वयं सशक्त एवं सबल हो सकती हैं। उन्हें किसी के सहारे की जरूरत नहीं पड़ेगी।

डा. पाठक ने कहा कि आज की बेटियों को अपने अधिकारों एवं कानूनों की भी जानकारी रखनी होगी, जिसके बल पर न केवल वो अपनी सुरक्षा कर सकती हैं। अपराधों को रोक सकती हैं, बल्कि दूसरे द्वारा किए जा रहे अपराधों पर भी अंकुश लगा सकती हैं। किंतु हमारी बेटियों को शिक्षित एवं संस्कारयुक्त होकर सुसंस्कृति बनकर अपनी बात को सबलता से रखनी होगी। उन्हें उत्श्रृंखलता एवं स्वछंदता से बचना होगा। अगर ऐसा होता है तो निश्चित ही आज की बेटियां अपनी सुरक्षा, सम्मान एवं स्वालम्बन के प्रति सचेष्ट होकर परिवार, समाज एवं देश के विकास में अहम् भूमिका निभा सकती हैं।

कार्यक्रम में भाषण प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। इसमें प्रथम्, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पर क्रमशः अनन्या राय, प्रीति सिंह एवं गौरव राय रहे। मुख्य अतिथि के हाथों उन्हें सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन डा. मनीषा सिंह, स्वागत एवं विषय प्रवर्तन डा. निवेदिता श्रीवास्तव एवं धन्यवाद ज्ञापन डा. सुचेता प्रकाश ने किया। कार्यक्रम में कुंवर सिंह पीजी कालेज के प्राचार्य डा. अशोक कुमार सिंह, डा. ममता श्रीवास्तव, डा. प्रमोदशंकर पाण्डेय, सुश्री नेहा बिसेन सहित विभिन्न कालेजों के प्राध्यापकगण तथा छात्र-छात्राएं विद्यमान रहीं। कार्यक्रम् को सफल बनाने में एनसीसी के कैडटो ने अहम भूमिका निभाईं।

Post a Comment

0 Comments