To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : मां भारती की पुकार, राष्ट्र के नवनिर्माण का संकल्प लें युवा


सुखपुरा, बलिया। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पंडित राम विचार पांडे ने कहा कि बड़ी-बड़ी कुर्बानियों के बाद मिली आजादी को अक्षुण्ण बनाए रखने और राष्ट्र के नवनिर्माण की जिम्मेदारी युवाओं की है। युवा आगे बढ़े और बिना किसी भेदभाव के दलगत राजनीति से ऊपर उठकर राष्ट्र के नवनिर्माण का संकल्प ले। मां भारती की यही पुकार है।


सोमवार को शहीद दिवस के प्रथम सत्र में शहीद स्मारक पर ध्वजारोहण करने के बाद सभा को सम्बोधित करते हुए पंडित राम विचार पांडे ने कहा कि किसी भी राष्ट्र समाज व परिवार की पहचान उसके पुरखों से होती है। गुलामी में जकड़ी भारत माता जब आजादी के लिए कराह रही थी तो यही हमारे पुरखे बिना किसी भेदभाव के अपने खून से राष्ट्र को आजाद कराएं। उन्हीं की शहादत को हम आज याद कर रहे हैं। उनकी कुर्बानी हमें युगों युगों तक प्रेरणा देती रहेगी। 


द्विजेंद्र मिश्रा ने कहा कि आज का यह दिन भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखा गया है। इसे बराबर याद रखने की जरूरत है। बच्चों को यह शहीद स्मारक देश के लिए कुछ कर गुजरने की बराबर प्रेरणा देता रहेगा। इसके पूर्व सेनानी रामविचार पांडेय ने वंदे मातरम और भारत माता की जय के गगनभेदी नारे के बीच शहीद स्मारक पर ध्वज फहराया। 

शहीद स्मारक समिति के बैनर तले आयोजित शहीद दिवस के द्वितीय सत्र में निर्माणाधीन शहीद स्मारक पुस्तकालय, वाचनालय परिसर में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में शहीदों की स्मृतियों को नमन किया गया। साथ ही एकजुट होकर शहीदों की याद में बनने वाले पुस्तकालय वचनालय के निर्माण में आने वाली हर बाधाओं को दूर कर निर्माण कार्य पूर्ण कराने का संकल्प लिया गया। वयोवृद्ध चिकित्सक दीनानाथ ओझा की अध्यक्षता में आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्याम बहादुर सिंह ने कहा कि शहीदों की कुर्बानियों को व्यर्थ न होने दे। भारत के नव निर्माण का संकल्प लें। यही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। 


शहीद गौरी शंकर के परिवार के मानिक चंद वर्मा ने कहा कि शहीदों की शहादत को हम कभी भूल नहीं सकते। उनकी कुर्बानियां युगो युगो तक आने वाली पीढ़ियों को प्रेरणा देती रहेगी।श्रद्धांजलि अर्पित करने वालों में श्रीराम सिंह, हरिशंकर सिंह, विनय सिंह, बसंत सिंह, अख्तर अली, प्रमोद सिंह, रमाशंकर सिंह आजाद, अप्पू सिंह, उमेश सिंह, अनिल सिंह, तुफानी सिंह, रामाशंकर यादव, प्रवीण सिंह, अभय सिंह, कामरेड विप्लव सिंह, राजू वारसी, दिनेश चन्द सिंह, जनार्दन उपाध्याय, राजेश्वर सिंह, अतुल लाल श्रीवास्तव, उषा सिंह, हरेंद्र सिंह, गिरजा शंकर सिंह, प्रधान अभिमन्यु चौहान, राहुल सिंह टिंकू, अमीत सिंह, समरेंद्र सिंह, रोहित कुमार सिंह आदि शामिल रहे। संचालन शहीद स्मारक समिति के सचिव हरेराम सिंह ने किया। थाने के तरफ से उपनिरीक्षक अखिलेश पाण्डेय ने शहीद स्मारक पर पहुंच कर सलामी दिया।राजराम चन्द्र शिक्षण संस्थान के बच्चों ने भी प्रतिभाग किया। 

केपी चमन

Post a Comment

0 Comments