To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में हाई फ्लड लेवल छूने को बेताब गंगा की लहरें, कई गांव बने टापू


मझौवां, बलिया। गंगा नदी में लगातार हो रही जलवृद्धि से चारों तरफ तबाही का मंजर दिख रहा है। सबसे डेंजर स्थिति गंगापुर डगरा पर बने स्पर के पास बनी हैं। यहां पर नदी में खूब बैकरोलिंग हो रही है, जिसका सीधे दबाव एनएच 31 पर बन रहा है। विभाग आनन-फानन में मिट्टी व ईट के टुकड़े को युद्ध स्तर पर डाल रहा है, ताकि एनएच 31 सुरक्षित रहे। देखना यह है कि विभाग की अधूरी परियोजनाएं गंगा के उग्र तेवर को कब तक रोक पाती है। 



केंद्रीय जल आयोग गायघाट पर सोमवार की शाम 4 बजे गंगा का जलस्तर 59.47 मीटर रिकार्ड किया गया, जबकि प्रति घंटा एक सेंटीमीटर का बढ़ाव जारी है। यहां हाई फ्लड लेवल 60.390 मीटर है। वही, बाढ़ विभाग इस साल भी अपने वाली करता रहा है। नतीजतन गंगापुर में 26.900 किमी पर स्पर का निर्माण अब तक पूरा नहीं हो सका है। यही नहीं, विभाग ने इस बार बचाव का जो नया तरीका अपनाया, उससे और मुसीबत खड़ा हो गया। इससे लोग खुद को असुरक्षित समझ रहे हैं। लोगों का आरोप है कि बाढ़ विभाग व ठेकेदारों की लापरवाही कहीं एनएच 31 पर भारी न पड़ जाए। उधर, प्रलयंकारी लहरें केहरपुर की खाली पड़ी जमीनों को समेटते हुए सुघर छपरा गांव की तरफ बढ़ रही है। सुघर छपरा और नदी के बीच महज 100 मीटर का फासला बचा है।पूरा गांव चारों तरफ से बाढ़ की पानी में घिर चुका है। पीड़ित समझ नहीं पा रहे है कि जाए तो कहां? 

हरेराम यादव

Post a Comment

0 Comments