To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

विश्व टाइगर डे : सनबीम बलिया के NCC कैडेटों ने दिया यह संदेश, निदेशक व Principal ने बताई खास दिवस की महत्ता


बलिया। सनबीम स्कूल बलिया के 93 यूपी बटालियन एनसीसी कैडेटों ने विश्व टाइगर दिवस पर भगवानपुर ग्रामसभा स्थित लक्षीराम बाबा के प्रांगण में पौधारोपण करने के साथ ही पर्यावरण संरक्षण का सन्देश जन-जन को दिया। स्कूल के निदेशक डा. कुंवर अरुण कुमार सिंह ने कहा कि विश्व में 29 जुलाई को 'विश्व बाघ दिवस' के रूप में मनाया जाता है। बाघों के संरक्षण के सन्देश के साथ भारत में भी यह दिवस मनाया जा रहा है। ताकत, शक्ति और चपलता का  प्रतीक बाघ को भारत के राष्ट्रीय पशु का दर्जा दिया गया है। 


पर्यावरण ह्रास के कारण जंगली परिवेश परितंत्र के संकट और इस राष्ट्रीय पशु के चमड़े व नाख़ून इत्यादि की तस्करी जैसे कार्यो से भारत में बाघ विलुप्तता के कगार में आ गए थे। भारत सरकार योजनाबद्ध तरीके से इनके  संरक्षण का प्रयास कर रही है। इस खास अवसर पर हमारे स्कूल के एनसीसी कैडेटों द्वारा पौधारोपण कर पर्यावरण संरक्षण, वन्य जीव संरक्षण करने का सन्देश दिया गया। वन्य जीव, जन्तु और पेड़-पौधे हमारे जीवन परितंत्र के महत्वपूर्ण हिस्से है। इनकी क्षति होने का मतलब मानव समुदाय की क्षति है।


प्रधानाचार्या श्रीमती सीमा ने बताया कि जीव पारितंत्र का संरक्षण पर्यावरण एवं मानव को सुरक्षित रखने के लिए के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है, हमारी अति महत्वकांक्षा एवं आवश्यकताओं की पूर्ति ने पर्यावरण और जीव परितन्त्र को बहुत नुकसान पहुंचाया है। इस महत्वाकांक्षा की अंधी दौड़ में ना जाने कितने जीव-जन्तु विलुप्त हो चुके है, जो मानव सभ्यता के लिए खतरे की घण्टी है। 


इससे हमे सचेत होते हुए इस नुकसान की भरपाई के लिए पर्यावरण संरक्षण को आगे आने की आवश्यकता है। पूरा विश्व इस दिशा में काम भी कर रहा है। हम सब को भी इसमें सहयोग करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर शेरोन जालान, मोनिका दुबे,  संतोष कुमार चतुर्वेदी, पंकज कुमार सिंह, पवन कुमार, जय प्रकाश यादव, अनुराग ठाकुर आदि शिक्षक उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments