To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : निरस्त समायोजन की वेदी पर चढ़े साथियों को शिक्षामित्रों को दी श्रद्धांजलि, पंकज सिंह ने योगी सरकार को लेकर कही ये बात


बलिया। समायोजन रद होने के बाद से अवसाद की वजह से पिछले चार वर्षों में जान गंवा चुके प्रदेश के करीब 4000 शिक्षा मित्रों को उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ की जिला इकाई ने श्रद्धांजलि दी। रविवार को कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में संघ के जिला प्रभारी पंकज सिंह ने कहा कि 4 साल पहले आज के ही दिन सुप्रीम कोर्ट ने शिक्षामित्रों का समायोजन निरस्त किया था। उसके बाद से अब तक प्रदेश के शिक्षा मित्र केंद्र व प्रदेश सरकार की ओर टकटकी लगाकर देख रहे हैं। इस दौरान बीमारी व आत्महत्या आदि कारणों से प्रदेश के करीब 4000 शिक्षामित्र इस दुनिया से जा चुके हैं। इसके बावजूद अब तक कोई सकारात्मक कदम सरकार की ओर से नहीं उठाया गया है। 


भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में वादा किया था कि शिक्षामित्रों की समस्याओं का न्यायोचित समाधान किया जाएगा, लेकिन वह न्यायोचित समाधान कब होगा? समझ में नहीं आ रहा है। सरकार का वर्तमान कार्यकाल भी चंद माह का बचा है। शिक्षामित्रों को इस सरकार से काफी उम्मीद है। शिक्षामित्र परेशान हैं, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से ना उम्मीद भी नहीं हुए हैं। पंकज सिंह ने कहा कि वर्तमान समय में महंगाई की जो स्थिति है, उसे देखते हुए सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि 10 हजार रुपये में कोई अपने परिवार, बाल बच्चों व माता-पिता को कैसे पालता होगा। कई शिक्षामित्रों के बच्चे उच्च शिक्षा ग्रहण करने व शादी विवाह की स्थिति में आ गए हैं। 


ऐसे लोग काफी परेशान हैं। कुछ ऐसे भी शिक्षा मित्र हैं जो करीब 50 साल की उम्र के हो गए हैं और खुद ही कई बीमारियों से ग्रसित हैं। धन के अभाव में वे अपना इलाज नहीं करा पा रहे हैं। शिक्षामित्रों की वर्तमान दशा से मुख्यमंत्री से लेकर जनप्रतिनिधि व अधिकारी बखूबी वाकिफ हैं। बावजूद इसके कोई कदम ना उठाना आश्चर्यजनक है। पंकज ने मांग की कि शिक्षामित्रों की वर्तमान स्थिति को देखते हुए स्थायीकरण किया जाए। बैठक के अंत में 2 मिनट का मौन रखकर गत आत्माओं को शांति प्रदान करने की प्रार्थना की गई। इस दौरान, निर्भय नरायन राय,जिला प्रवक्ता राकेश पांडेय, जिला उपाध्यक्ष दिलीप प्रसाद, संजीव सिंह, शशिकांत चौबे, धर्मनाथ सिंह,अवधेश मिश्रा, सूर्य प्रकश यादव, हरेराम यादव, अमित मिश्रा चेला, देवेन्द्र प्रसाद, मनोज शर्मा, विकेश सिंह, अभिषेक पाल, मंजूर हुसैन, महंगी राम, पप्पू सिंह, सुनील कुमार, जितेंद्र ओझा, दिलीप सिंह, अशोक सिंह, राजीव कुमार, अजय कुमार, सुरेंद्र यादव, सुधीर शुक्ला, प्रवीण सिंह, सीमा पाल इत्यादि मौजूद रहे।अध्यक्षता रमेश चौबे व संचालन परवेज अहमद ने किया।

Post a Comment

0 Comments