To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया में पकड़े गये तीन दलाल, लैपटॉप में डाउनलोड मिला यह प्रतिबंधित साफ्टवेयर


बलिया। आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक अजय कुमार सिंह एवं निरीक्षक सीआईबी वाराणसी अभय कुमार राय की टीम ने मुखबीर की सूचना के आधार पर दो स्थानों पर छापेमारी कर तीन रेलवे टिकट दलालों को दबोच लिया। ये तीनों फर्जी व गलत नाम पत्ते से आईआरसीटीसी की पर्सनल यूजर आईडी बनाकर प्रतिबंधित सॉफ्टवेयर के उपयोग से ई-टिकट का अवैध कारोबार कर रहे थे। इनके खिलाफ रेलवे सुरक्षा बल बलिया पर मामला पंजीकृत किया गया।

सूर्यपुरा स्थित साइबर कैफे व सहज जन सेवा केंद्र पर छापा मारकर उक्त दुकान के संचालक रमेश कुमार चौहान पुत्र रामाशंकर चौहान (निवासी देवापुर मनियर, थाना-मनियर, बलिया) को आईआरसीटीसी की पर्सनल आईडी पर बनाये गए 7 रेलवे ई-टिकट (कीमत 8107/- रुपये) के साथ गिरफ्तार किया गया। दुकान से ई-टिकट बनाने में प्रयुक्त एक लेपटॉप तथा एक प्रिंटर, दो मोबाइल व नगद 20320 रुपया जब्त किया गया। वहीं, गाजीपुर के लट्ठुडीह स्थित बिरजू सॉफ्टवेयर सोलुशन के संचालक बिरजू चौहान पुत्र सुरेंद्र चौहान (निवासी चन्द्रवार दुगौली, थाना-नगरा, बलिया) व उसके सहयोगी अमित चौहान पुत्र दुर्योधन चौहान, (निवासी सूर्यपुरा रामपुर थाना मनियर, बलिया) को फेक नाम पत्ते से आईआरसीटीसी की 16 फर्जी पर्सनल आईडी (डेल्टा सॉफ्टवेयर के माध्यम से तैयार) कर बनाये गए सामान्य/तत्काल 7 रेलवे ई-टिकट (कीमत 14258 रुपये) बेचने के जुर्म में गिरफ्तार किया गया। इनके पास से रेलवे ई टिकट बनाने में प्रयुक्त एक लैपटॉप व 02 मोबाइल आदि को जब्त किया गया।

पूछताछ में पकड़े गए अभियुक्तों ने बताया कि उसके द्वारा फर्जी नाम पत्ते से आईआरसीटीसी की पर्सनल यूजर आईडी बनाकर उस पर जरूरमंद व्यक्तियों/एजेंटों से रेलवे टिकटों का आर्डर प्राप्त कर तथा ई-टिकट बनाकर ग्राहकों को ₹500 से 1000 रुपये प्रति टिकट का लाभ लेकर बेचा जाता है। ये करीब 2-3 वर्षों से इस अनाधिकृत व गैरकानूनी कार्य में संलिप्त होना स्वीकार किये है। इन्होंने ग्राहकों से प्राप्त आर्डर पर रेलवे के तत्काल व सामान्य ई टिकट को प्रतिबंधित सॉफ्टवेयर रेड मिर्ची व रेडबुल का पहले तथा वर्तमान में डेल्टा (DELTA) का इस्तेमाल करके बनाया जाना स्वीकार किया। अभियुक्तों के लैपटॉप में DELTA सॉफ्टवेयर इंस्टॉल मिला, जिसे उसके द्वारा UPI से पेमेंट कर ऑनलाइन खरीदना बताया गया। ये आईआरसीटीसी के अधिकृत एजेंट भी है। 

Post a Comment

0 Comments