To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

युवा तुर्क की पहचान थी स्पष्टवादिता और निर्भीकता, युवा पीढ़ी को लेनी चाहिए सीख : रामगोविन्द चौधरी


बलिया। नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी ने कहा कि प्रथम समाजवादी प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर जी की ही प्रेरणा से मैंने राजनीति में समाजवादी विचारधारा को अपनाया था। आज जब सामाजिक समरसता और राजनीति में विद्वेष चरम पर है, चन्द्रशेखर जी के विचारों की प्रासंगिकता बढ़ गई है। मुझे गर्व है कि उनके बताए रास्ते पर मैं आज भी चल रहा हूं। वह मेरे राजनीतिक गुरु, अभिभावक और संरक्षक थे। युवा तुर्क की पुण्यतिथि पर भावपूर्ण नमन करता हूं।

पानी टंकी जगदीशपुर स्थित आवास पर आयोजित पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर जी के पुण्यतिथि कार्यक्रम में नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि चंद्रशेखर जी राजनीति में व्यक्तिगत सम्बन्धो को निभाते हुए अपने सिद्धांतों को कभी नहीं छोड़े। बहुराष्ट्रीय कंपनियों के खिलाफ उनकी आवाज़ आजीवन सड़क से लेकर सदन तक गूंजती रही। स्पष्टवादिता एवं निर्भीकता उनकी पहचान थी। अपनी बात पर अडिग रहने की क्षमता की सीख चंद्रशेखर जी के जीवन दर्शन से मिलती है।

चंद्रशेखर जी वोट की राजनीति  के पक्षधर नहीं थे। वह देश बनाने और समाज बनाने की राजनीति करते थे। उन्होंने राजसत्ता के बदले 1975 में जेल जाना पसन्द किया था। उनके जीवन से आज की युवा पीढ़ी को सिख लेनी चाहिए। कहा कि आज के समय मे समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ही एकमात्र ऐसे नेता दिख है, जो चंद्रशेखर जी की नीतियों व सिद्धान्तों को आगे बढ़ा सकते है। इस मौके पर आदित्य सिंह योगी, प्रवीण सिंह विक्की, हरेन्द्र गोंड़, पल्लू जायसवाल, विनोद पासवान, बालेश्वर तिवारी, बृजकिशोर यादव, सुनील प्रजापती आदि उपस्थित रहे। अध्यक्षता सपा जिला अध्यक्ष राजमंगल यादव एवं संचालन सपा जिला प्रवक्ता सुशील पाण्डेय 'कान्हजी' ने किया।

Post a Comment

0 Comments