To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : एक-एक कर दोनों बच्चों की मौत, पत्नी भी बीमार है साहब ; अस्पताल के खिलाफ कुछ कीजिए


बैरिया, बलिया। रानीगंज बाजार में चल रहे नर्सिंग होम के खिलाफ थाने पहुंचकर ग्रामीणों ने शिकायत की। मधुबनी निवासी धनंजय गोंड की पत्नी गर्भवती थी। उसकी देख रेख गांव की आशा बहु कर रही थी। धनंजय गोंड की पत्नी पिंकी देवी के डिलीवरी का समय आया तो आशा बहु उनको निजी नर्सिंग होम ले गयी, जहां पिंकी देवी ने जुड़वा बच्चों को जन्म दिया। जन्म के एक दिन बाद उनका एक लड़के और उसके दूसरे दिन दूसरे लड़के की मृत्यु हो गयी। आरोप है कि थोड़े से कमीशन के लिए आशा बहु ने सरकारी अस्पताल में न ले जाकर निजी नर्सिंग होम में ले गयी, जिनकी लापरवाही की वजह से मेरे बच्चों की जान चली गयी। पत्नी की भी हालत नाजुक बनी हुई है। ईलाज के नाम पर मोटी रकम वसूली गयी है। डिलीवरी के बाद जैसे ही बच्चों और पत्नी की हालत खराब होने लगी तो नर्सिंग होम की डॉक्टर ने ये बोलकर घर भेज दिया कि डिलीवरी के बाद कमजोरी के कारण बेहोश हो रही है। घर आने के बाद अगले दिन एक लड़के की तबीयत खराब हो गयी। उसे बलिया ले गए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। उसी दिन दूसरे बच्चे और पत्नी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा ले गए, जहां से डॉक्टर ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। अगले दिन दूसरे बच्चे की भी मृत्यु हो गयी। अब पत्नी जीवन और मृत्यु से संघर्ष कर रही है। धनंजय गोंड ने थानाध्यक्ष बैरिया से न्याय की गुहार लगाई है।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments